Monday , July 16 2018

मुल्क में बोलने की आज़ादी नहीं : करण जौहर

जयपुर। जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में हिदायतकार करन जौहर ने ऐसा बयान दिया है जिससे वो तनाज़ा में घिर सकते हैं। फेस्टिवल के 9वें एडिशन में हिदायतकार और अदाकार करण जौहर बेबाक बयान देकर तनाज़ा को दाअवत दे दिया।
खुसूसी इजलास में करण जौहर के ज़िदगी पर पर मबनी राईटर पूनम सक्सेना के ज़रिये लिखी एक बुक ‘एन अनसुटेबल ब्वॉय’ पर चर्चा की गई। करण जौहर ने किताब पर चर्चा करते हुए अपना दर्द बयां किया। करण ने कहा कि हमारे देश में बोलने की आज़ादी नहीं है। यहां शख्सी बातचीत पर ही जेल भेज दिया जाता है।

उन्होंने कहा कि वह जयपुर आए हैं, पता नहीं कोई उनके खिलाफ लीगल नोटिस भेज दे। इस दौरान करण जौहर ने अपनी फिल्मों के तजर्बे भी अदीबों के साथ शेयर किए। लिटरेचर फेस्टिवल में देश-विदेश के के मशहूर अदीब और राइटर फिल्म और सियासत से जुडी हस्तियां हिस्सा ले रही हैं। फेस्टिवल के पहले दिन मुख्तलिफ मोज़ू पर 32 सेशन मुनाक़िद हुए।

TOPPOPULARRECENT