Tuesday , December 12 2017

मुल्क में 23 मिलयन आधार कार्डस‌ बैंक एकाऊंटस से मरबूत

यू आई डी ए आई के चेयरमेन नंदन नलिकानी ने आज कहा कि मुल्क भर में तक़रीबन 23 मिलयन आधार कार्डस‌ को बैंक एकाऊंटस से मरबूत कर दिया गया है।

यू आई डी ए आई के चेयरमेन नंदन नलिकानी ने आज कहा कि मुल्क भर में तक़रीबन 23 मिलयन आधार कार्डस‌ को बैंक एकाऊंटस से मरबूत कर दिया गया है।

आइन्दा चंद माह के दौरान ये तादाद 100 मिलयन तक पहुंचने की उम्मीद‌ है। नलिकानी ने सॉफ्टवेर सरवेस सनअत के इदारा नैस्कॉम की जानिब से एक तक़रीब के मौके पर कहा कि अब तक 23 मिलयन (2.3 करोड़) आधार कार्डस‌ को बैंक एकाऊंटस से मरबूत किया गया है।

आधार कार्ड रास्त मुनफ़अत मुंतक़ली स्कीम बराए एलपी जी के तहत पकवान गैस पर सब्सीडी फ़राहम करने के लिए ज़रूरी है । हुकूमत ने आज इस स्कीम को 289 जिलों तक तौसी दी है। एक‌ जनवरी तक यहां आधार कार्ड को बैंक एकाऊंट से मरबूत किया जाएगा। गुजिश्ता माह ही हुकूमत ने ऐलान किया था कि यूनिक आईडंटी फ़ीकेशन अथॉरीटी आफ़ इंडिया ने ज़ाइद अज़ 40.29 करोड़ आधार नंबर्स जारी किए हैं और ये इदारा 2014 -ए-तक 60 करोड़ एनरोलमैंटस का निशाना पूरा करलेगा।

नलिकानी ने कहा कि हिंद‍अमेरिकी वेंचर के सरमाया कार विनोद खोसला भी इस मौके पर मौजूद थे। आधार कार्ड के ज़रिया करप्शन का पता चलाने के लिए आसानियां होती हैं। इन ख़्यालात की हिमायत करते हुए विनोद खोसला ने कहा कि आधार से सनअतें क़ायम करने के लिए मौक़े हासिल होते हैं। आधार एक ऐसा प्लेटफार्म है जो तमाम शहरियों को मुख़्तलिफ़ शोबों और मह्कमाजात में काम आएगा। बैंकों के साथ उनकी मुआमलत भी आसान तरीके से होगी।

TOPPOPULARRECENT