Friday , February 23 2018

मुल्क़ को लोक पाल की नहीं जल्लाद की ज़रूरत : बाल ठाकरे

मुंबई, १६ दिसम्बर: (पी टी आई) शिवसेना सरबराह बाल ठाकरे ने टीम अन्ना को शदीद तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए कहा कि पार्लीमैंट पर लोक पाल बिल मंज़ूर करने गै़रज़रूरी दबाव् डाला जा रहा है जबकि मुल्क को लोक पाल से ज़्यादा एक जल्लाद की ज़रूरत है|

मुंबई, १६ दिसम्बर: (पी टी आई) शिवसेना सरबराह बाल ठाकरे ने टीम अन्ना को शदीद तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए कहा कि पार्लीमैंट पर लोक पाल बिल मंज़ूर करने गै़रज़रूरी दबाव् डाला जा रहा है जबकि मुल्क को लोक पाल से ज़्यादा एक जल्लाद की ज़रूरत है|

जो पार्लीमैंट पर हमला करने वाले दहश्तगर्द अफ़ज़ल गुरु को सज़ाए मौत पर अमल आवरी कर सके यानी उसे फांसी पर लटका सके। अपनी पार्टी के तर्जुमान अख़बार सामना के अदारीए में तहरीर करते हुए बाल ठाकरे ने कहा कि पार्लीमैंट के वक़ार को आख़िर कब तक दाँव पर लगाया जाएगा? बाल ठाकरे ने अलबत्ता इस बात का एतराफ़ किया कि आज मलिक के हर शोबा में बदउनवानी सराएत कर चुकी हैं, लेकिन इस के लिए पूरे निज़ाम को ही तबदील करने का मुतालिबा भी ग़लत है।

उन्हों ने कहा कि लोग इंसिदाद बदउनवानी एहतिजाज में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेते हैं लेकिन जब इंतिख़ाबात के दौरान वोट डालने की बारी आती है तो वो इस मुआमला को एक तरफ़ रख देते हैं। अवाम के इस रुजहान का पता हाल में मुनाक़िदा रियासत के म्यूनसिंपल कौंसल इंतिख़ाबात में देखने को मिला।

अवाम ने पैसे की ताक़त को वोट दिया और अब बताईए वो लोग क्या कहना चाहेंगे जो इंसिदाद बदउनवानी तहरीक से वाबस्ता हैं?।

TOPPOPULARRECENT