Tuesday , December 12 2017

मुश्किल में मोदी

गुजरात के वज़ीर ए आला और बीजेपी से पीएम ओहदे के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी की रैली पर महाभारत थमने का नाम नहीं ले रही है। मोदी के खिलाफ दो अलग-अलग मुफाद ए आम्मा की दरखास्त दायर की गई है जिसमें एक दरखास्त कानपुर रैली को लेकर है जिसे इलाहा

गुजरात के वज़ीर ए आला और बीजेपी से पीएम ओहदे के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी की रैली पर महाभारत थमने का नाम नहीं ले रही है। मोदी के खिलाफ दो अलग-अलग मुफाद ए आम्मा की दरखास्त दायर की गई है जिसमें एक दरखास्त कानपुर रैली को लेकर है जिसे इलाहाबाद हाईकोर्ट में दायर किया गया है और दूसरी दरखास्त मद्रास यूनिवर्सिटी कैंपस में मुनाकिद एक प्रोग्राम में जुमे के दिन हिस्सा लेने को लेकर दाखिल की गई है।

बीजेपी लीडरों के दबाव और मीडिया में मामला आने के बाद जिला इंतेज़ामिया ने कानपुर में 19 अक्तूबर को उत्तर प्रदेश में होने वाली नरेन्द्र मोदी की पहली रैली के लिए उनके हेलीकॉप्टर को उतरने के लिए हेलीपैड की इज़ाज़त तो मिल गई लेकिन दूसरी तरफ दलित तब्के के कुछ लोगों ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में रैली को रोकने के लिए अर्जी दी है।

मुकाम के मालिकों में शामिल दलित खातून सुनील कुमारी ने यह दरखास्त दी है। जमीन पर रैली की इज़ाज़त जिला मजिस्ट्रेट ने दी है। दलितों का कहना है कि रैली के लिए उनसे इज़ाज़त ली जाए। जहां रैली होनी है, वहां दलितों के घर होने का दावा किया गया है।

उधर, मद्रास यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स ने यूनिवर्सिटी के अहाते में जुमे के दिन एक प्रोग्राम किये जाने की इजाजत दिए जाने का एहतिजाज किया है जिसमें नरेन्द्र मोदी हिस्सा लेंगे। मोदी को मद्रास यूनिवर्सिटी के सेंटेनरी ऑडिटोरियम में `ननी पालखीवाला मेमोरियल लेक्चर 2013` देना है। इस मौके पर वह बीजेपी लीडर अरुण शौरी की किताब `सेल्फ डिसेप्शन : इंडिया चाइना पोलिसीज` का इजरा भी करेंगे।

मोदी की सेक्युरिटी के नाम पर पुलिस की तरफ से परेशान करने का इल्ज़ाम लगाते हुए स्टूडेंट्स ने प्रोग्राम की इजाजत दिए जाने केएहतिजाज में नारे लगाए। इससे पहले यह प्रोग्राम डॉ. राधाकृष्णन मार्ग पर म्यूजिक अकेडमी में होने वाला था, लेकिन बाद में सेक्युरिटी वजुहात का हवाला देते हुए इसकी जगह बदलकर यूनिवर्सिटी का सेंटेनरी ऑडिटोरियम कर दिया गया।

———- बशुक्रिया: प्रदेश टुडे

TOPPOPULARRECENT