Thursday , January 18 2018

मुसलमानों के मसायल के हल के लिए अमली इकदिमात

किशनगनज : मुसलमानों के मसायल के हल के लिए अमली इकदमात किए जाने की ज़रूरत है। नीतीश हुकूमत समाज के तमाम तबकों की तरक्की के लिए बेश बहार खिदमात अंजाम देने में कामयाब होगी। क्योंकि अजीम इत्तिहाद बिहार के मुस्तकबिल को सवारने की सलाहियत रखती है। 20 नवंबर को पटना का गांधी मैदान में हलफबरदारी तकरीब से फिरका परस्त ताकतों को रोकने में कामयाबी मिलेगी। ये बातें जेडीयू लीडर इलयास रहमानी ने अपने दफ्तर में अजीम इत्तिहाद की कामयाबी के मौके पर प्रेस से खिताब करने के दौरान कहीं। उन्होने कहा की मैं बिहार के आवाम को सलाम करता हूँ जिनहोने एसेम्बली इंतिख़ाब में पूरी दिलेरी के साथ फिरका परस्त ताकतों का न सिर्फ डट कर मुक़ाबला किया बल्कि एसेम्बली इंतिख़ाब में उन्हें करारी शिकस्त दे कर सेकुलरिज़्म को मजबूत करने का काम किया है।
उन्होने कहा की वजीरे आला नीतीश कुमार ने अपने काम करने के तर्ज़ से जो उम्मीदें पैदा की हैं उससे हमारे हौसले बुलंद हुये हैं। आज रियासत के बेशतर नौजवानों, ख़वातीन वोटरों और जाईफो की उम्मीदें मौजूदा नीतीश हुकूमत से मारकूज हुयी हैं। उन्हें लगता है की अज़ीम इत्तिहाद के इक्तिदार में आने के बाद उन तमाम लोगों के मसायल हल होने और यकीन जानिए की नीतीश हुकूमत इस मर्तबा वैसे तमाम मसायल को हल करने का कामयाब होगी जो समाज के खुशहाली में रुकावट है।
मिस्टर रहमनी ने ज़ोर देकर कहा  की नीतीश काबीना में जिन मुस्लिम वुजरा को शामिल किया जाएगा उनके कंधों पर अपने क़ौम के मसायल के हल करने के साथ साथ रियासत को तरक़्क़ी की राह पर गामजान करने की एक बहुत बड़ी ज़िम्मेदारी होगी और हमें यकीन है की ये तमाम विजरा अपनी ज़िम्मेदारीयों को ईमानदारी के साथ निभाने में पूरी तरह से कामयाबा होंगे। वहीं उन्होने हलफबरदारी तकरीब के मौके पर बाशिंदगान बिहार को दिल की गहराईयों से मुबारकबाद पेश की है और कहा की इस तारीख़ी फतह के लिए आवाम के साथ साथ वजीरे आला नीतीश कुमार, आरजेडी सरबराह लालू प्रसाद यादव और काँग्रेस आला सोनिया गांधी खास तौर पर मुबारकबाद के मुस्तहिक हैं जिनकी हिकमत अमली की वजह से फिरका परस्त ताकतों को शिकस्त का सामना करना पड़ा है।

TOPPOPULARRECENT