Monday , December 18 2017

मुसलमानों के साथ हर शोबे में नाइंसाफ़ी

तेलंगाना माइनॉरिटीज़ रिसर्च स्कॉलर और इंटेलेक्चूअल फ़ोरम के ज़ेरे एहतेमाम गोल मेज़ मुशावरती इजलास ज़ेरे निगरानी जनाब ज़हीर उद्दीन अली ख़ान मैनेजिंग एडीटर सियासत, महबूब हुसैन जिगर हॉल में अमल में आया। इस इजलास में अक़लीयती तलबा और

तेलंगाना माइनॉरिटीज़ रिसर्च स्कॉलर और इंटेलेक्चूअल फ़ोरम के ज़ेरे एहतेमाम गोल मेज़ मुशावरती इजलास ज़ेरे निगरानी जनाब ज़हीर उद्दीन अली ख़ान मैनेजिंग एडीटर सियासत, महबूब हुसैन जिगर हॉल में अमल में आया। इस इजलास में अक़लीयती तलबा और तालिबात के कई सुलगते मसाइल पर बात की गई।

इजलास में जनाब मुहम्मद अंसारी ने कहा कि रिसर्च स्कॉलर्स के यूनीवर्सिटी के सतह पर कई मसाइल हैं जिस को हल करने के लिए नौजवान की ये टीम काम करने के पाबंद हैं। हम अगर रिज़ूलेशन और सवलेशन के नुमाइंदगी पर काम करें तो कामयाबी हासिल होगी।

जनाब मुख़तार अहमद फरदीन सदर उर्दू मास ने कहा कि अभी तेलंगाना का क़ियाम अमल में आने की तैयारी है और मुसलमानों के साथ तमाम शोबे में नाइंसाफ़ी हो रही है।

मुस्लिम माइनॉरिटीज़ फ़ाइनेन्स कारपोरेशन ने दरख़ास्त बैंक लोन का मांगा जिस के लिए लोगों ने 20 हज़ार से ज़ाइद दीए अगर कारपोरेशन तमाम दरख़ास्त को क़ुबूल कर के सब्सीडी के रक़म अकाउंट मुंतक़िल करे तो एक बड़ा मसअला हल होगा और लोग ख़ुद रोज़गार हो जाएंगे।

TOPPOPULARRECENT