Tuesday , November 21 2017
Home / India / मुसलमानों के हक़ में हामिद अंसारी का बयान दुरुस्त : कांग्रेस

मुसलमानों के हक़ में हामिद अंसारी का बयान दुरुस्त : कांग्रेस

नई दिल्ली: कांग्रेस ने नायब सदर जम्हूरीया हामिद अंसारी की जानिब से मुसलमानों के हक़ में दिए गए बयान को दुरुस्त क़रार दिया और कहा कि अक़िलियतों के साथ बेहतर रवैय्या इख़तियार करते हुए उनके जान-ओ-माल की हिफ़ाज़त को यक़ीनी बनाना चाहिए। उनके बयान में कोई ग़लत बात नज़र नहीं आती।

कांग्रेस तर्जुमान अभिषेक सिंघवी ने अख़बारी नुमाइंदों से कहा कि दस्तूरी ओहदा रखने वाली शख़्सियतों के बयानात पर उनकी पार्टी तबसेरा करना नहीं चाहती लेकिन इस का मौक़िफ़ वाज़िह है कि सब का साथ सब का विकास एक अक़ीदे का उनवान है। ये कोई नारा नहीं है।

पार्टी मुसलमानों के हक़ में है और उनके साथ कोई इमतियाज़ी सुलूक रवा रखा नहीं जाना चाहिए। अभिषेक सिंघवी ने याद दिलाया कि मर्कज़ में जब कांग्रेस ज़ेर-ए-क़ियादत यू पी ए हुकूमत थी उसने ही सच्चर कमेटी तशकील दिया था और अक़िलियतों के मआशी और समाजी मौक़िफ़ के बारे में तहक़ीक़ात करवाई थी।

मैं नहीं समझता कि किसी को भी कांग्रेस की नीयत पर शुबा किया जाना चाहिए। नायब सदर जम्हूरीया ने हाल ही में मुतालिबा किया कि मुसलमानों की शनाख़्त और सलामती के मसाइल से फ़ौरी निमटना चाहिए और उनके साथ इमतियाज़ी सुलूक रवा ना रखा जाये। मोदी हुकूमत के एक ओहदेदार ने सब का साथ सब का विकास जैसे नारा इस्तेमाल करने पर एतराज़ किया है।

हामिद अंसारी के इस बयान पर वीएचपी और ज़ाफ़रानी पार्टी ने शदीद तन्क़ीद की है। ताहम आर एस एस अपने 3 रोज़ा अहम इजलास में राम मंदिर का मसला उठाना चाहती है। इस इजलास में मर्कज़ी वुज़रा के अलावा बी जे पी के आला क़ाइदीन शिरकत कर रहे हैं। जब कभी इंतेख़ाबात क़रीब होते हैं तो आर एस एस एस तरह के मसाइल उठाती है और इंतेख़ाबी कामयाबी के लिए हरबे इस्तेमाल करती है।

TOPPOPULARRECENT