Saturday , December 16 2017

मुसलमान के बिना अमेरिका एक ग़रीब मुल्क हो जाएगा : गार्डियन अखबार की रिपोर्ट

Mohammad-Ali_Donald-Trump
लन्दन : रिपब्लिकन प्रेसिडेंट उमीदवार डोनाल्ड ट्रम्प भले ही ये सोचें के मुसलमान अमेरिका के लिए ख़तरा हैं लेकिन गार्डियन अखबार की रिपोर्ट उनकी बात को सही नहीं समझती और एक नयी तस्वीर सामने रखती है.

“अमेरिका आज जैसा है शायद वैसा नहीं होता अगर फजलुर रहमान खान ना होते.ढाका में पैदा हुए बंगलादेशी अमेरिकी रहमान को “आइंस्टीन की स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग” के तौर पर जाना जाता है. उन्होंने एक नया ही सिस्टम तय्यार किया जिसमें फ्रेम तुबे के ज़रिये आसमान छूती इमारतें बनीं”

आगे रिपोर्ट में बताया गया है कि किस तरह से 1786 में सिर्फ़ मोरक्को ने इसे एक मुल्क माना था. 1786 में दोनों मुल्कों ने एक ट्रीटी में दस्तख़त किये थे जिसमें अमन और दोस्ती की बातें की गयी थीं, ये ट्रीटी आज भी मानी जाती है.

डॉ. अयूब ओम्म्या का नाम लेते हुए रिपोर्ट कहती है कि अगर वो नहीं होते अमेरिका बीमारियों से जूझ रहा होता और अमेरिकी मर रहे होते.
रिपोर्ट में आगे हुमा आबेदीन से लेके कई खिलाड़ियों का भी ज़िक्र किया गया है.

TOPPOPULARRECENT