Monday , January 22 2018

मुसलमान शांति स्थापित करने के लिए वैश्विक प्रयासों का सहयोग करें: मलाला

दुबई। मुसलमान इस्लाम के वास्तविक संदेश पर अमल करते हुए दुनिया में शांति स्थापित करने की वैश्विक प्रयासों के साथ सहयोग करें। यह संदेश दुनिया की सबसे कम उम्र नोबेल पुरस्कार विजेता मलाला युसुफ़ज़ई ने मुसलमानों को परिस्थितियों के एक ऐसे मोड़ पर दिया है जब मुसलमान दुनिया में विवादों का शिकार होकर रह गए हैं। याद रहे कि इसी महीने 2012 में मलाला पर तालिबान ने नाकाम जानलेवा हमला किया था। गोलियां उनके सिर में लगी थी।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

न्यूज़ नेटवर्क समूह प्रदेश 18 के अनुसार मलाला ने शारजा में महिलाओं के भविष्य पर एक समारोह से अपने संबोधन में जोर देकर कहा कि मुसलमान इस्लाम के वास्तविक संदेश का सम्मान करें और जिन देशों में वे रहते हैं वहां शांति और स्थिरता की स्थापना के लिए युवा पीढ़ी, विशेषकर महिलाओं को शिक्षित और सशक्त बनाएं। मलाला ने अपने भाषण में सीरिया, इराक और यमन के हालात का हवाला देते हुए कहा कि ” हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि इन विवादों का मुख्य शिकार मुसलमान ही हैं। हम इस क्षेत्र में अपना भविष्य देखने के हवाले से तब तक बात नहीं कर सकते जब तक यहां होने वाले आतंकवादी हमलों का ख़ात्मा न हो जाए। ”
मलाला ने कहा कि वह इराकी शहर मोसुल में मौजूद उन पांच लाख बच्चों के बारे में सोचना बंद नहीं कर सकतीं जो खतरे में हैं।

TOPPOPULARRECENT