Thursday , December 14 2017

मुसलमान होने की वजह से नहीं दिया डाइट कोक

सैकड़ों लोगों ने अमेरिका की यूनाईटेड एयरलाइंस के बायकाट करने की बात कही है। एअरलाइंस का बायकाट इसलिए किया जा रहा है क्योंकि उसके स्टाफ ने एक मुस्लिम मुसाफिर को डाइट कोक नहीं दिया।

सैकड़ों लोगों ने अमेरिका की यूनाईटेड एयरलाइंस के बायकाट करने की बात कही है। एअरलाइंस का बायकाट इसलिए किया जा रहा है क्योंकि उसके स्टाफ ने एक मुस्लिम मुसाफिर को डाइट कोक नहीं दिया।

उन्हें यह डर था कि मुसाफिर बिना खुले हुए कैन को हथियार के तौर पर इस्तेमाल कर सकती है। यह मामला शिकागो का है जहां तहेरा अहमद यूनाइटेड एयरलाइंस के तैय्यारे में सफर कर रही थी।

सफर के दौरान उन्होंने डाइट कोक की मांग की जिसके जवाब में उन्हें कहा कि ‘मुझे माफ कर दीजिए मैं आपको बिना खुला हुआ कैन नहीं दे सकते, इसलिए आपके लिए कोई डाईट कोक नहीं है।’

उन्होंने अपने फेसबुक वॉल पर इस वाकिया का ज़िक्र किया जिसके बाद वो वायरल हो गया। वहीं तेहार के बगल में बैठे एक शख्स को बिना खुला हुआ कैन दिया गया।

जब उन्होंने इस बारे में मालूमात लेनी चाही तो उन्हें बताया गया कि ‘हम लोगों को बिना खुले हुए कैन देने नहीं दे सकते क्योंकि वे इसका इस्तेमाल हथियार की तरह कर सकते हैं।’

तेहार ने बताया कि उसे बगल में बैठे शख्स ने कहा कि ‘तुम मुस्लिम हो तुम खामोश रहो’। उन्हें काबिल ऐतराज़ लफ्ज़ भी कहे गए। उन्होंने कहा कि उनके साथ के किसी भी मुसाफिर ने उनकी मदद नहीं की।

अपनी फेसबुक पोस्ट में तेहार ने लिखा है कि तैय्यारा 30 हजार फीट ऊपर था, और वो इस इंसानी इम्तियाज़ी सुलूक की वजह से रो रही थी। तेहार ने अपने पोस्ट पर कई लोगो के उस दरखास्त को मुस्तरद कर दिया जिसमें उन्होंने उनकी राय मांगी थी।

वहीं कुछ मुस्लिम एक्टिविस्ट्स ने इसे सोशल मीडिया पर फैला दिया और कहा कि यह ‘माफी के काबिल नही’ हैं। कई सोशल मीडिया यूजर्स ने एयरलाइंस का बायकॉट करने की बात कही है।

ट्विटर यूजर वैव जोन्स ने कहा है कि केवल बॉयकॉट करना ही एक रास्ता नहीं है बल्किन उस अटेंडेंन्ट को नौकरी से भी निकाला जाना चाहिए।

वहीं इस मामले पर यूनाइटेड एअरलाइँस के तरजुमान चार्ल्स होबार्ट का कहना है कि एयरलाइंस तेहार की मांग को पूरा करने की कोशिश कर रही है। एयरलाइंस इस मामले पर अपने रीजनल पार्टनर से बात करेगी जो फ्लाइट्स को आपरेट करने में उसकी मदद करती है।

TOPPOPULARRECENT