Friday , December 15 2017

मुसल्लह अस्करीयत पसंदों का तराबल्स एरपोर्ट के क़रीब फ़ौज से तसादुम

तराबल्स 12 दिसमबर (राइटर्स) लीबिया की नई क़ौमी फ़ौज जब तराबल्स के बैन-उल-अक़वामी एरपोर्ट पर क़बज़ा हासिल करने की कोशिश कररही थे तो इस का लीबिया केमुसल्लह अफ़राद से तसादुम होगया जिस के दौरान रात भर फायरिंग का तबादला जारी रहा। एरपो

तराबल्स 12 दिसमबर (राइटर्स) लीबिया की नई क़ौमी फ़ौज जब तराबल्स के बैन-उल-अक़वामी एरपोर्ट पर क़बज़ा हासिल करने की कोशिश कररही थे तो इस का लीबिया केमुसल्लह अफ़राद से तसादुम होगया जिस के दौरान रात भर फायरिंग का तबादला जारी रहा। एरपोर्ट की फ़ौज के कमांडर ने कहा कि हरीफ़ अस्करीयत पसंदों के दरमयान तसादुम के सिलसिले का ये ताज़ा तरीन वाक़िया है। मुकम्मल तौर पर कारकरद मर्कज़ी हुकूमत की अदमे मौजूदगी की बिना पर हक़ीक़ी इक़तिदार अब लीबिया की सड़कों पर आगया है ।

एक पार्लीमैंट फ़ौज ने साबिक़ क़ाइद लीबिया मुअम्मर क़ज़ाफ़ी के फ़ौजी कमांडर मुख़तार अलाख़ज़री की ज़ेर क़ियादत अपना एक मुसल्लह ग्रुप क़ायम किया है जो बैन-उल-अक़वामी एरपोर्ट पर क़ाबिज़ हैं। कमांडर ने राइटर्स से कहा कि कारों का एक क़ाफ़िला फ़ौजी चौकी के क़रीब पहुंचा जो एरपोर्ट से तीन केलो मीटर के फ़ासले पर क़ायम है । कमांडर के बमूजब क़ाफ़िले में शामिल मुसल्लह अफ़्वाज ने कहा कि वो सयान्ती हालात के बारे में तबादला-ए-ख़्याल के लिए आए हैं।

लेकिन उन्हों ने अचानक फायरिंग शुरू करदी जिस की वजह से फ़ौज के साथ फायरिंग का तबादला हुआ। किसी के हलाक होने की कोईइत्तिला नहीं मिली है । सिर्फ दो फ़ौजी ज़ख़मी होगए हैं। अलाख़ज़री ने कहा कि अस्करीयत पसंद फ़ौजी गाड़ियां इस्तिमाल कररहे थे।

TOPPOPULARRECENT