Wednesday , April 25 2018

मुस्लिम औरतों को पर्सनल लॉ में बदलाव कुबूल नहीं : मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड

नयी दिल्ली : अखिल भारतीय मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (एआईएमपीएलबी) ने तीन बार तलाक के मुद्दे को बढ़ा-चढ़ा कर प्रस्तुत करने का मीडिया पर इल्जाम लगाते हुए कहा कि मुस्लिम औरतें मुस्लिम पर्सनल लॉ में किए जाने वाले किसी भी बदलाव को क़ुबूल नहीं करेंगी।
एआईएमपीएलबी ने कहा, “इस्लाम में तलाक को गलत और नापसंद किया गया है। अगर मियां बीवी साथ में रहने के लिये आपसी मंजूरी बनाने में विफल होते हैं तब इस रिश्ते से अलग होने का तलाक एक महफूज़ तरीका है।” बाेर्ड ने कहा कि कुरान और हदीस में तलाक का जिक्र है। तीन बार ‘तलाक’ कहना इस्लाम में तलाक का ‘बिदत’ तरीका है।

TOPPOPULARRECENT