Thursday , December 14 2017

मुस्लिम कश फ़साद का सिलसिला गुजरात से मुज़फ़्फ़र नगर तक पहूंच गया : हर्ष मंदिर

हुक़ूके इंसानी के नामवर जहद कार हर्ष मंदिर साबिक़ आई ए एस ओहदेदार ने आज कहा कि मुल्क को फ़सादाद से पाक रखने और अमन-ओ-अमान की बक़ा के लिए मौक़ा पुरसताना सियासत को मुस्तर्द करना चाहीए और एक एसे सयासी निज़ाम को फ़रोग़ देना चाहीए जो फ़िर्क़ा व

हुक़ूके इंसानी के नामवर जहद कार हर्ष मंदिर साबिक़ आई ए एस ओहदेदार ने आज कहा कि मुल्क को फ़सादाद से पाक रखने और अमन-ओ-अमान की बक़ा के लिए मौक़ा पुरसताना सियासत को मुस्तर्द करना चाहीए और एक एसे सयासी निज़ाम को फ़रोग़ देना चाहीए जो फ़िर्क़ा विराना ख़ुतूत पर राय दहनदों का एतेमाद हासिल करने से गुरेज़ करे।

हर्ष मंदिर आज महबूब हुसैन जिगर हाल अहाता सियासत में मुज़फ़्फ़र नगर फ़सादाद के ख़िलाफ़ एहतेजाजी मीटिंग आम से ख़िताब कररहे थे।

जनाब ज़ाहिद अली ख़ान एडीटर सियासत ने सदारत की। हर्ष मंदिर ने कहा कि मुल्क का दस्तूर तमाम शहरियों को मसावात का तीक़न देता है मगर हम देख रहे हैंके दस्तूर में जो वाअदे किए गए हैं वो टूटते बिखर रहे हैं जिस से मुल्क की सालमीयत को ख़तरा लाहक़ है।

इस के बावजूद एक ख़ुश आइंद बात ये हैके हनूज़ क़ानून आज़ाद है और क़तल-ए-आम के ज़िम्मेदारों को कहीं ना कहीं जवाबदेह होना पड़ रहा है।

जनाब ज़ाहिद अली ख़ान एडीटर सियासत ने कहा कि मुज़फ़्फ़रनगर फ़सादाद के तनाज़ुर में क़ौमी यकजहती कौंसिल के मीटिंग में मुख़्तलिफ़ रियासतों के वुज़राए आला ने ख़िताब किया और अक्सर ने उनकी हुकूमत की तरफ से मुसलमानों को मुराआत का तज़किरा किया मगर सब से बहतरीन बात चीफ मिनिस्टर बिहार नितेश कुमार ने कही। उन्होंने कहा था कि हमारे बचपन में जो तहवार घरों में मनाए जाते थे आज वो सड़कों पर मनाए जाते हैं जिस की वजह से फ़िर्कावाराना फ़साद की नौबत आती है ।एसे तहवारों पर इमतिना आइद करना चाहीए यह फिर उन्हें फिर से घरों में मनाना चाहीए।

TOPPOPULARRECENT