Wednesday , December 13 2017

मुस्लिम तलबा को 12 फ़ीसद तहफ़्फुज़ात पर अमल मुम्किन नहीं

जारीया माह के अवाख़िर में इंजीनियरिंग और मेडिसिन में दाख़िलों के लिए कौंसलिंग के आग़ाज़ के पेशे नज़र मुस्लिम तहफ़्फुज़ात पर अमल आवरी के सिलसिला में अक़लीयती तलबा में तशवीश पाई जाती है।

जारीया माह के अवाख़िर में इंजीनियरिंग और मेडिसिन में दाख़िलों के लिए कौंसलिंग के आग़ाज़ के पेशे नज़र मुस्लिम तहफ़्फुज़ात पर अमल आवरी के सिलसिला में अक़लीयती तलबा में तशवीश पाई जाती है।

टी आर एस हुकूमत ने अक़लीयतों को 12 फ़ीसद तहफ़्फुज़ात की फ़राहमी का वाअदा किया है जबकि फ़िलवक़्त 4 फ़ीसद तहफ़्फुज़ात पर अमल आवरी की जा रही है जिस का आग़ाज़ कांग्रेस दौरे हुकूमत में हुआ था।

क़ानूनसाज़ कौंसिल में कांग्रेस के डिप्टी लीडर मुहम्मद अली शब्बीर ने चीफ़ मिनिस्टर के चन्द्र शेखर राव को मकतूब रवाना करते हुए मुस्लिम तहफ़्फुज़ात के मसअले पर फ़ौरी कुल जमाती इजलास तलब करने का मुतालिबा किया।

उन्हों ने कहा कि तहफ़्फुज़ात पर अमल आवरी के सिलसिले में हुकूमत को अपना मौक़िफ़ वाज़ेह करना चाहीए क्यूंकि पेशेवराना कोर्सेस में दाख़िलों के लिए कौंसलिंग का आग़ाज़ क़रीब है। उन्हों ने कहा कि तलबा में इस बात की तशवीश है कि आया हुकूमत जारीया 4 फ़ीसद तहफ़्फुज़ात पर अमल करेगी या नहीं।

चीफ़ मिनिस्टर ने कौंसिल में मुबाहिस का जवाब देते हुए ये वाज़ेह कर दिया था कि जारीया तालीमी साल 12 फ़ीसद तहफ़्फुज़ात की फ़राहमी मुम्किन नहीं क्योंकि उसे बाअज़ क़ानूनी और दस्तूरी मराहिल की तकमील करनी है।

TOPPOPULARRECENT