Friday , December 15 2017

मुस्लिम तहफ्फुज़ात के लिए मरकज़ की पहल का साथ देगी सपा

लखनऊ, 29 मई: मुसलमानों को रिजर्वेशन देने के लिए आइनी तरमीम जरूरी है।मर्कज़ी हुकूमत की पहल पर समाजवादी पार्टी साथ देगी। ये बातें यूपी के वज़ीर ए आला अखिलेश यादव ने मंगल के दिन 5 कालीदास मार्ग वाकेए सरकारी रिहायशगाह पर अक्लियती उमूर के

लखनऊ, 29 मई: मुसलमानों को रिजर्वेशन देने के लिए आइनी तरमीम जरूरी है।मर्कज़ी हुकूमत की पहल पर समाजवादी पार्टी साथ देगी। ये बातें यूपी के वज़ीर ए आला अखिलेश यादव ने मंगल के दिन 5 कालीदास मार्ग वाकेए सरकारी रिहायशगाह पर अक्लियती उमूर के मरकज़ी वज़ीर के रहमान खान के साथ हुई शाफियो के साथ बातचीत में कही।

अखिलेश यादव ने कहा कि मुस्लिमों की इक्तेसादी, सामाजी, तालीमी और सियासी तरक्की के लिए सपा सरकार संजीदगी से काम कर रही है। उन्होंने अक्लीयतों के मुफादात की मंसूबा बंदी को ठीक से चलाने के लिए वक्त पर रकम दस्तयाब कराने की दरखास्त किया।

अखिलेश ने मरकज़ और रियासत के वज़ीरों, आफीसरों के बीच हवाला देते हुए कहा कि यूपी में मुस्लिम बहबूद के कामों के नतीजे जल्द दिखने लगेंगे। उन्होंने मुस्लिम की बेहतरी के लिए मरकज़ व रियासत को मिलकर काम करने की जरूरत जताई।

यादव ने इल्ज़ाम लगाया कि मुस्लिमों के मसले पर बसपा हुकूमत को जितनी जिम्मेदारी से काम करना चाहिए था, उसने नहीं किया। मरकज़ी हुकूमत उत्तर प्रदेश को एक रियासत नहीं मुल्क मानकर मंसूबे बनाए, क्योंकि यहां की आबादी कई मुल्कों के बराबर है। यूपी को तरजीह भी मिलनी चाहिए। सच्चर कमेटी की शिफारिशात का जिक्र करते हुए वज़ीर ए आला ने कहा कि मुस्लिम रिजर्वेशन के लिए आइन में तरमीम जरूरी है। अगर मरकज़ी हुकूमत इस सिम्त में पहल करती है तो उनकी पार्टी मदद के लिए तैयार है।

अक्लीयतों के मामलों के मरकज़ी काबीना के वज़ीर के रहमान खां ने कहा कि हम यहां खामियां निकालने नहीं, मिलकर अक्लीयतों को आइनी / दस्तूरी हक दिलाने आए हैं। तरक्की के इस दौर में मुसलमान पिछड़ गया है। जिसे बराबरी पर लाने की कोशिश करनी है। उन्होंने कहा कि सच्चर कमेटी की रिपोर्ट में कहा गया है कि जहां अक्लीयती तबके के ज्यादा लोग रहते हैं, वह इलाका तरक्की याफ्ता नहीं हुए हैं। मुल्क में ऐसे 90 अजलो की निशानदेही की गई हैं। इसमें यूपी के भी कई अजले हैं।

अक्लीयतों के लिए क्या-क्या करेगी मरकज़ी हुकूमत :

1- बदलाव इंडेक्स तैयार करेगी।

2- नेशनल डेटा बैंक तैयार करेगी

3- छह सेंटर्ल यूनिवर्सिटी खोलेगी, यूपी में भी एक पर गौर किया गाएगा

4- वक्फ कानून को मजूबत किया जाएगा

5- नेशनल वक्फ कारपोरेशन की तश्कील होगी

6‍ मुसावी हुकूक कमीशन की तश्कील

7- वक्फ की जायदादों की सरकार की जायदाद की तरह महफूज़ होगी।

8- गरीब अक्लियत मरीजों के इलाज के लिए 100 करोड़ का फंड

9- नेशनल माइनारटीज फाइनेंस कारपोरेशन की तश्कील होगी

10- 2 से 3 फीसद ब्याज पर तालीम कर्ज़ ( शिक्षा ऋण) की मुहिम चलेगी।

11- मौलाना आजाद फाउंडेशन की पहल पर रिहायशी स्कूल खोले जाएंगे।

———-बशुक्रिया: अमर उजाला

TOPPOPULARRECENT