Friday , November 17 2017
Home / Khaas Khabar / मुस्लिम तहफ़्फुज़ात के लिए रोज़नामा सियासत की तहरीक अज़ला में ज़ोर पकड़ रही है

मुस्लिम तहफ़्फुज़ात के लिए रोज़नामा सियासत की तहरीक अज़ला में ज़ोर पकड़ रही है

हैदराबाद 17 सितंबर:मुस्लिम क़ौम की तरक़्क़ी और बहबूद के लिए जारी 12फ़ीसद मुस्लिम तहफ़्फुज़ात तहरीक में अज़ला के मुस्लमान पेश पेश हैं और वो शहरी मुसलमानों पर सबक़त हासिल कर रहे हैं।

ख़ालिस मुस्लिम समाज की भलाई और मुस्लिम नौजवान नसल की तरक़्क़ी के नाऱेए पर रोज़नामा सियासत की टाऱाफ से शुरू करदा तहरीक को अज़ला में ज़्यादा तक़वियत हासिल हो रही है और शहरी सतह पर तहरीक आहिस्ता ज़ोर पकड़ रही है ताहम तक़र्रुत के लिए तहफ़्फुज़ात का नारा हर-सम्त गूंज रहा है। ज़िलई सतह पर मुस्लमान मंडल, डेवेझ और ज़िलई सतह पर नुमाइंदगीयाँ पेश करने में सबक़त हासिल कर रहे हैं और अवामी मुंख़बा नुमाइंदों से भी मुलाक़ातें जारी हैं।

सरकारी प्रोग्राम हो या ख़ानगी प्रोग्राम दावत-ओ-तक़रीब रियासती वुज़रा और ओहदेदारों की आमद पर उनसे 12 फ़ीसद मुस्लिम तहफ़्फुज़ात की बात की जा रही है। हुकूमत को वादे की याददहानी कराई जाने पर मर्कूज़ है। कई मिली तन्ज़ीमों से ख़ुशगवार ताल्लुक़ात रखने वाले एक शहरी ने बताया कि चूँकि ईद-उल-अज़हा के सिलसिले में कई अफ़राद कारोबार और ईद की तैयारीयों में जुटे हुए हैं और कई मिली-ओ-समाजी तंज़ीमें भी ईद के सिलसिले में मसरूफ़ हैं और उन्होंने ईद के बाद नुमाइंदगियों और 12 फ़ीसद मुस्लिम तहफ़्फुज़ात तहरीक में शिद्दत पैदा करऱ्ने का इरादा किया है।

सरकारी मुलाज़िमतों पर तक़र्रुत के आलामीया से पहले 12 फ़ीसद मुस्लिम तहफ़्फुज़ात को यक़ीनी बनाने की कोशिशें जारी हैं और तहरीक के बानी न्यूज़ एडीटर सियासत आमिर अली ख़ां रियासत भर में तहरीक को मज़बूत करने के लिए मिली, मदहबी, सयासी, तलबा , असातिज़ा नीज़ हर शोबे हयात के अफ़राद से राबिता क़ायम किए हुए हैं।

इस सिलसिले में उन्होंने निज़ामबाद का भी दौरा किया था। बताया जाता हैके 12 फ़ीसद मुस्लिम तहफ़्फुज़ात की तहरीक अब हर सियासी गोशा में मौज़ू बेहस बनी हुई है और शहरीयों में इस का ज़बरदस्त रद्द-ए-अमल देखा जा रहा है। औलियाए तलबा और अक्सर एसे वालिदैन जिनके बच्चे ग्रेजूएशन से फ़ारिग़ हो चुके हैं इस तहरीक को आस भरी नज़र से देख रहे हैं और इस तहरीक में अपने बच्चों के रोशन मुस्तक़बिल की राह तलाश करते हैं और नौजवान नसल जो अपनी तर्जीहात कुमलक-ओ-समाज के लिए सर्फ करने के लिए मुक़ामी सतह पर सरकारी रोज़गार के लिए बेचैन हैं और एसे नौजवान जो रोज़गार के मुन्तज़िर हैं हुकूमत पर दबाओ बनाने के लिए मुनज़्ज़म की गई सियासत की तहरीक से जुड़ने की कोशिश कर रहे हैं।

12 फ़ीसद मुस्लिम तहफ़्फुज़ात के लिए मर्यालगुड़ा नलगेंडा में उल्मा कौंसिल की तरफ से आर डी ओ को याददाश्त पेश की गई। तेलंगाना उल्मा कौंसिल जनरल सेक्रेटरी मुफ़्ती मुहम्मद उम्र की क़ियादत में वफ़द ने आर डी ओ को एक याददाश्त पेश की और 12फ़ीसद मुस्लिम तहफ़्फुज़ात को यक़ीनी बनाने के लिए हुकूमत पर-ज़ोर दिया।

TOPPOPULARRECENT