Friday , December 15 2017

मुस्लिम तहफ़्फुज़ात के लिए मुहम्मद अली शब्बीर की गिरांक़द्र ख़िदमात

कामारेड्डी, 01 अप्रेल: जनाब रहीम अनवर सदर अंजुमन तरक़्क़ी उर्दू ने एक सहाफ़ती बयान में कहा कि साबिक़ रियासती वज़ीर जनाब मुहम्मद अली शब्बीर की जद्द-ओ-जहद-ओ-कोशिशों से ही मुसलमानों को तालीम-ओ-रोज़गार में तहफ़्फुज़ात हासिल हुए। तहफ़्फुज़ा

कामारेड्डी, 01 अप्रेल: जनाब रहीम अनवर सदर अंजुमन तरक़्क़ी उर्दू ने एक सहाफ़ती बयान में कहा कि साबिक़ रियासती वज़ीर जनाब मुहम्मद अली शब्बीर की जद्द-ओ-जहद-ओ-कोशिशों से ही मुसलमानों को तालीम-ओ-रोज़गार में तहफ़्फुज़ात हासिल हुए। तहफ़्फुज़ात की फ़राहमी के लिए जो रुकावटें आईं उन्हें दूर करने में उन की ग़ैरमामूली ख़िदमात नुमायां हैं ताकि नई नसल इस से मुस्तफ़ीद हो सके।

जमइयतुल उलमा की जानिब से उन की कोशिशों को नज़र अंदाज़ करना अफ़सोसनाक है और काबिले मुज़म्मत है। जनाब मुहम्मद अली शब्बीर जो अब रुकन क़ानूनसाज़ कौंसल हैं अपनी हरकियाती क़ियादत से मुसलमानों की रहनुमाई करते रहेंगे और वो मुसलमानों को तहफ़्फुज़ात के लिए जद्द-ओ-जहद करते रहेंगे।

TOPPOPULARRECENT