Sunday , January 21 2018

मुस्लिम तहफ़्फुज़ात से पहले तक़र्रुत, नाइंसाफ़ी

निज़ामबाद 07 जनवरी:वज़ीर-ए-दाख़िला नरसिम्हा रेड्डी के दौरा निज़ामबाद के मौके पर सदर ज़िला अक़लियती डिपार्टमेंट कांग्रेस समीरा हमद ने अबोद बिन हमदान, मुस्तफ़ा अलकाफ़, सय्यद असलम के हमराह वज़ीर-ए-दाख़िला से नुमाइंदगी करते हुए 12 फ़ीसद तहफ़्फुज़ात को फ़ौरी फ़राहम करने के लिए बी सी कमीशन का क़ियाम अमल में लाने का मुतालिबा किया।

उन्होंने वज़ीर-ए-दाख़िला नरसिम्हा रेड्डी को पेश करदा तफ़सीली याददाश्त में कहा कि टी आरएस इक़तिदार में आने से पहले मुसलमानों को 12 फ़ीसद तहफ़्फुज़ात की फ़राहमी का एलान किया था लेकिन इस सिलसिले में अभी तक कोई इक़दामात ना किए जाने की वजह से मुसलमानों में तशवीश पाई जा रही है और पिछ्ले चंद दिनों से हुकूमत मुलाज़मतों की भर्ती के लिए इक़दामात करते हुए मुख़्तलिफ़ मह्कमाजात की तरफ से आलामीया की इजराई अमल में लाई जा रही है जिसकी वजह से मुसलमानों को ज़बरदस्त नुक़्सानात पेश आने के इमकानात हैं।

बग़ैर तहफ़्फुज़ात के मुलाज़मतों की भर्ती सरासर ग़लत क़रार दिया। उन्होंने सुधीर कमेटी को तहफ़्फुज़ात की फ़राहमी के कोई इख़्तयारात नहीं है लिहाज़ा फ़ौरी बी सी कमीशन के क़ियाम के लिए इक़दामात करने की ख़ाहिश की। वज़ीर-ए-दाख़िला नरसिम्हा रेड्डी ने समीर अहमद की तरफ से दी गई याददाश्त पर कहा कि चीफ़ मिनिस्टर चन्द्रशेखर राव‌ हमेशा जो कहते वो कर दिखाते हैं। मुसलमानों को 12 फ़ीसद तहफ़्फुज़ात की फ़राहमी के लिए कमीशन का क़ियाम अमल में लाया गया है और ये कमीशन अपना काम कर रहा है लिहाज़ा मुसलमानों को इस मसले पर शक-ओ-शुबहात ज़ाहिर करने का कोई सवाल ही नहीं उठता और हुकूमत अपना काम दियानतदारी के साथ करेगी

TOPPOPULARRECENT