Monday , December 18 2017

मुस्लिम दुश्मन ओहदेदार-ओ-सियासतदां चिराग़-ए-पा

हैदराबाद ।०६ सितंबर :जनाब मुहम्मद अमान अल्लाह ख़ां और मुजाहिद हाश्मी क़ाइदीन अवामी मजलिस-ए-अमल ने अपने सहाफ़ती ब्यान में कहा कि मलिक का क़ानून , दस्तूर अवाम की फ़लाह-ओ-बहबूद क़ियाम अमन , अदल वानसाफ़ के लिए होता है लेकिन आज मुल्क में

हैदराबाद ।०६ सितंबर :जनाब मुहम्मद अमान अल्लाह ख़ां और मुजाहिद हाश्मी क़ाइदीन अवामी मजलिस-ए-अमल ने अपने सहाफ़ती ब्यान में कहा कि मलिक का क़ानून , दस्तूर अवाम की फ़लाह-ओ-बहबूद क़ियाम अमन , अदल वानसाफ़ के लिए होता है लेकिन आज मुल्क में सियासतदां , और क़ानून नाफ़िज़ करने वाली एजैंसीयां क़ानून को अपनी मर्ज़ी से मुस्लिम दुश्मनी के लिए इस्तिमाल कर रही हैं ।

नरोडा पाटिया में मुस्लमानों के क़तल-ए-आम मुक़द्दमे में 32 हिन्दुओ को हुई सज़ा से मुस्लिम दुश्मन सियासतदां और पुलिस ओहदेदार इंतिक़ामी कार्रवाई में जुट गए हैं और मन घड़त इल्ज़ामात के तहत साईंसदाँ डॉक्टर्स , सहाफ़ी और कम्पयूटर प्रोफैशनल्ज़ को गिरफ़्तार कररही हैं ।

तो दूसरी जानिब पूना में बम मुंतक़ली के दौरान ज़ख़मी हिन्दू नौजवान को हम ने दहश्तगर्द क़रार दिया और ना ही इस का ताल्लुक़ किसी दहश्तगर्द तंज़ीम से बताया और ये किन मुक़ामात पर हमले की साज़िश पर अमल कररहा था मुकम्मल ख़ामोशी इख़तियार कर ली और मीडीया ने इस को नज़रअंदाज करदिया क्यों कि ये हिन्दू हैं ।

ऐसे माहौल में मुस्लमानों के मज़हबी , समाजी , सयासी तंज़ीमें , सहाफ़ी ,-ओ-दानिश्वर एन मुल्क गीर सतह पर मुनज़्ज़म-ओ-मुत्तहिद हो कर एक लायेहा-ए-अमल तर्तीब दें ताकि इस ज़ुलम का मुक़ाबलाकिया जा सके और इंसाफ़ पसंद ग़ैर मुस्लिम हज़रात को शामिल रखें । अवामी मजलिस-ए-अमल मुख़्तलिफ़ तंज़ीमों से मुशावरत में मसरूफ़ है और उसे किसी भी प्रोग्राम मैं ख़ुद को शामिल रखेगी ।।

TOPPOPULARRECENT