मुस्लिम धरना कई चैलेंज्स का मुंहतोड़ जवाब

मुस्लिम धरना कई चैलेंज्स का मुंहतोड़ जवाब
हैदराबाद 28 अक्टूबर : ( सियासत न्यूज़ ) तेलंगाना की मुस्लिम जमातों और तंज़ीमों ने इंदिरा पार्क पर मुनाक़िद शुदणी तेलंगाना मुस्लिम धरना प्रोग्राम की तैय्यारीयां मुकम्मल कर लिया है जो इंदिरा पार्क पर 29 अक्टूबर की सुबह ग्यारह बजेता शाम 5

हैदराबाद 28 अक्टूबर : ( सियासत न्यूज़ ) तेलंगाना की मुस्लिम जमातों और तंज़ीमों ने इंदिरा पार्क पर मुनाक़िद शुदणी तेलंगाना मुस्लिम धरना प्रोग्राम की तैय्यारीयां मुकम्मल कर लिया है जो इंदिरा पार्क पर 29 अक्टूबर की सुबह ग्यारह बजेता शाम 5 बजे तक मुनाक़िद होगा ।

जिस में हज़ारों की तादाद में मुस्लमानों की शिरकत की तवक़्क़ो है । इस ख़सूस में एक प्रैस कान्फ़्रैंस के दौरान कन्वीनर मुस्लिम धरना मुहम्मद सनाउल्लाह ख़ां ने बताया कि इस मुस्लिम धरना प्रोग्राम का मक़सद मुख़ालिफ़ीन तलंगाना बिलख़सूस उन अफ़राद को एक इंतिबाह होगा जो कि मुस्लमानों को तहरीक तलंगाना से दूर करने के लिए साज़िशें कर रहे हैं ।

उन्होंने आनधराई मीडीया को अपनी तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए कहा कि सरमायादार मीडीया के ज़रीया समाज में ये तसव्वुर पेश कर रहे हैं कि मुस्लमान तलंगाना तहरीक से दूर रहें और इस के मुख़ालिफ़ हैं । जब कि हक़ीक़त इस के बरअक्स है और मीडीया मुस्लमानों के किसी भी प्रोग्राम को एहमीयत नहीं दे रहा है । जो तलंगाना तहरीक से मुताल्लिक़ है ।

उन्होंने बताया कि तलंगाना मुस्लिम धरना ऐसे कई चैलेंजो का मुंहतोड़ जवाब होगा ।

तलंगाना मुख़ालिफ़ीन में कन्वीनर मुस्लिम धरना ने कहा कि तलंगाना की तशकील के ताल्लुक़ से अब तक जो भी प्रोग्राम मुनाक़िद हुए हैं इस में शरीक थे और हुसूल तलंगाना तक मुस्लमान हर क़दम पर तलंगाना काज़ के लिए काम करेंगे ।

उन्होंने कहा कि एक जमात की मर्ज़ी को सारी क़ौम की मर्ज़ी-ओ-ख़ाहिश क़रार नहीं दिया जा सकता लिहाज़ा मीडीया को भी अपनी ज़िम्मेदारी समझना चाहीए इस मौक़ा पर मुहम्मद अनवर ए यू सी जवाइंट ऐक्शण कमेटी ने कहा कि इस्लाम में ख़ुदकुशी हराम है ।

लिहाज़ा मुस्लमान ख़ुदकुशी नहीं करते । इस का मतलब मुस्लमानों को तहरीक से दूर करना मुनासिब बात नहीं । उन्हों ने कहा कि बावजूद इस के बंदगी , जाफ़र और सलीम ने ख़ुदकुशी करते हुए तलंगाना के लिए अपनी जानों की क़ुर्बानियां दीं । मुहम्मद हुसैन शहीद ने कहा कि तलंगाना तहरीक गुज़शता 55 साल की मेहनत का नतीजा है जो अपने आख़िरी मराहिल में है ।

ये तहरीक अब अवामी तहरीक बन गई है और तलंगाना की अनक़रीब तशकील यक़ीनी है और इस काज़ को कोई ताक़त नहीं रोक सकती । उन्हों ने कहा कि मर्कज़ अगर तलंगाना के मुतालिबा को क़बूल नहीं करती तो ये समझा जाएगा कि मुल्क में जमहूरीयत बाक़ी नहीं रही । प्रैस कान्फ़्रैंस में शरीक क़ाइदीन ने कहा कि तलंगाना में बसने वाले मुस्लमानों का तलंगाना से जज़बाती-ओ-कलबी लगाव है ।

मुस्लिम धरने के ज़रीया मुख़्तलिफ़ तलंगाना हामी तंज़ीमों और अंजुमनों के ज़रीया मर्कज़-ओ-रियास्ती हुकूमत पर लगाव डाला जाएगा कि वो फ़ौरी तौर पर तलंगाना की तशकील में हाइल रुकावटों को दूर करें । तलंगाना का क़ियाम अमल में कब लाएंगे और पार्लीमैंट के मुजव्वज़ा सरमाई इजलास में तलंगाना बिल पेश करे ताकि तशकील तलंगाना की राहें हमवार हो सके ।

मुस्लिम धरना प्रोग्राम में तलंगाना से ताल्लुक़ रखने वाले वुज़रा और क़ाइदीन से फ़ौरी ओहदों से अस्तीफ़ा पेश करने का मुतालिबा किया जाएगा ।

क़ाइदीन तलंगाना के मुस्लमानों से अपील की वो इस मुस्लिम धरना प्रोग्राम को कामयाब बनाईं और कसीर तादाद में शिरकत करते हुए काज़ से अपनी वाबस्तगी का सबूत दें ।

इस मौक़ा पर इफ़्तिख़ार उद्दीन अहमद सदर तलंगाना मुस्लिम फ्रंट , हुसैन शहीद , तलंगाना प्रजा फ्रंट , मुहम्मद फ़य्याज़ रुकन ऐम आर पी ऐस-ओ-एमजे कॉलिज जे ए सी मुहम्मद फ़रीद उद्दीन मुस्लिम मीनारटीज़ आर्गेनाईज़ेशन , अनवर ख़ां , ए यू सी , मुहम्मद यूसुफ़-ओ-तुय्यब कादरी इंसाफ़ , सय्यद तारिक़ , मुहम्मद आबिद , कृपानऩ्द , शहबाज़ ख़ां , मुहम्मद वली अलरहमन , सलीम जाफरी , साजिद अली , मुहम्मद ख़्वाजा फ़रीद उद्दीन-ओ-दीगर मौजूद थे।

Top Stories