Monday , December 18 2017

मुस्लिम नौजवानों के फ़र्ज़ी एनकाउंटर के ख़िलाफ़ मुनज़्ज़म एहतेजाज करने का इंतिबाह

आलेर में पेश आए पाँच मुस्लिम नौजवानों के फ़र्ज़ी एनकाउंटर के ख़िलाफ़ तहरीके मुस्लिम शबान के ज़ेरे एहतेमाम उर्दू घर मुग़ल पूरा में मुनाक़िदा कुल जमाती एहतेजाजी जल्से आम से सदारती ख़िताब के दौरान सदर तहरीक मुस्लिम शबान जनाब मुहम्मद मुश्ताक़ मलिक ने मज़कूरा वाक़िया की जामे तहक़ीक़ात और ख़ाती पुलिस ओहदेदारों को कैफ़ुर किर्दार तक को पहुंचाने तक हुकूमते तेलंगाना के ख़िलाफ़ अवाम में शाऊर बेदारी मुहिम के साथ अपना एहतेजाज जारी रखने का इंतिबाह दिया।

उन्हों ने कहा कि तेलंगाना रियासत की तशकील से जो उम्मीदें रियासत तेलंगाना के मुसलमानों के अंदर पैदा हुई थीं उन उम्मीदों को तेलंगाना की पुलिस ने पाँच महरूस और बेबस नौजवानों के फ़र्ज़ी एनकाउंटर से चकनाचूर कर दिया।

जनाब मुहम्मद मुश्ताक़ मलिक ने 8 अप्रैल को पेश आए आलेर फ़र्ज़ी एनकाउंटर पर रियास्ती इंतेज़ामीया के ज़िम्मेदारान हुक्मरान जमात के नाम निहाद सेक्युलर क़ाइदीन की अब तक की ख़ामूशी को भी काबिले मुज़म्मत क़रार देते हुए अफ़सोस का इज़हार क़िया।

उन्हों ने कहा कि अब तक हुकूमते तेलंगाना की जानिब से इस संगीन मसअले पर किसी भी किस्म का रद्दे अमल ज़ाहिर नहीं किया गया जिस की हर गोशा से मुज़म्मत का सिलसिला जारी है।

उन्हों ने आलेर फ़र्ज़ी एनकाउंटर पर एमनेस्टी इंटरनेशनल की सरज़निश की जानिब से सताइश करते हुए कहा कि हुकूमते तेलंगाना इस संगीन मसअले पर तवज्जा मबज़ूल करते हुए अपने मौक़िफ़ की वज़ाहत करे।

उन्हों ने मज़ीद कहा कि एमनेस्टी इंटरनेशनल की रिपोर्ट के मुताबिक़ आज़ादी के बाद से लेकर 2013 तक पैंतालीस हज़ार फ़िर्कावाराना फ़सादाद हिंदुस्तान में पेश आए जिस में मुसलमानों की करोड़ों रूपयों की इमलाक तबाह हुई और लाखों मुसलमानों का क़त्ले आम हुआ बावजूद इसके हिंदुस्तानी मुसलमान मुस्तहकम और पुरअज़म हैं।

इसके इलावा फ़र्ज़ी एनकाउंटर में हलाकत के हक़ायक़ मंज़रे आम पर आने तक जल्सा जलूस रैली और सेक्रेट्रीएट के घेराव तक की एहतेजाजी हिक्मते अमली तैयार करने की तजवीज़ भी पेश की गई। जल्से का आग़ाज़ क़ारी अबदुल क़ैयूम ख़ान शाकिर की क़िरात कलाम पाक से हुआ।

TOPPOPULARRECENT