Tuesday , January 16 2018

मुस्लिम नौजवानों से बे जा पूछगिछ

हैदरआबाद 07 मार्च: दिलसुखनगर बम धमाकों की तहक़ीक़ात के नाम पर मुस्लिम नौजवानों को हिरासत मे लेकर इन से बेजा पूछगिछ करने की दरख़ास्त पर रियास्ती इंसानी हुक़ूक़ कमीशन ने डायरेक्टर जनरल पुलिस आंध्र प्रदेश को नोटिस जारी करते हुऐ इस सि

हैदरआबाद 07 मार्च: दिलसुखनगर बम धमाकों की तहक़ीक़ात के नाम पर मुस्लिम नौजवानों को हिरासत मे लेकर इन से बेजा पूछगिछ करने की दरख़ास्त पर रियास्ती इंसानी हुक़ूक़ कमीशन ने डायरेक्टर जनरल पुलिस आंध्र प्रदेश को नोटिस जारी करते हुऐ इस सिलसिले मे जवाब तलब किया है ।

ऐडवोकेट ग़ुलाम रब्बानी ने आज रियास्ती इंसानी हुक़ूक़ कमीशन से एक शिकायत दर्ज करवाई जिस मे उन्हों ने हैदरआबाद सिटी पुलिस पर ये इल्ज़ाम आइद किया कि वो बे क़सूर मुस्लिम नौजवानों को हिरासत मे लेकर इन से बेजा पूछगिछ कररही है जिस के सबब मुस्लिम तबक़ा मे ख़ौफ़ और दहश्त का माहौल पैदा होगया है ।

उन्हों ने अपनी शिकायत मे बताया कि दिलसुखनगर बम धमाकों के फ़ौरी बाद पुलिस और मीडीया का एक ख़ुसूसी सेक्शन मुस्लिम नौजवानों को दुबारा इस वाक़िये से जोड़ने की मुसलसिल कोशिश कररहा है । बताया गया है साबिक़ मे मक्काह मस्जिद ‘ अजमेर शरीफ़ और दीगर बम धमाकों मे मुसलमानों पर शुबा करते हुऐ नौजवानों को अज़ीयतें दी गी लेकिन हिन्दूतिवा दहश्तगर्द नेटवर्क के मंज़रे आम पर आने के बावजूद भी पुलिस एकतरफा रवैया इख़तियार किए हुए है ।

ग़ुलाम रब्बानी ने अपनी दरख़ास्त मे मज़ीद कहा कि जुड़वां बम धमाकों की तहक़ीक़ात क़ौमी तहक़ीक़ाती एजेंसी एन आई ए के हवाले किए जाने के बावजूद सिटी पुलिस नौजवानों को हिरासाँ कररही है । कमीशन ने डायरेक्टर जनरल पुलिस को इस सिलसिले मे जवाब देने और इस दरख़ास्त की समाअत यक्म अप्रैल को मुक़र्रर की है ।

TOPPOPULARRECENT