Tuesday , December 12 2017

मुस्लिम नौजवान एजाज शेख को स्पेशल सेल ने सहारनपुर से किया गिरफ्तार

दिल्ली में जामा मस्जिद के बाहर ब्लास्ट समेत मुल्क के कई शहरों में ब्लास्ट के मामले में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल को उस वक्त बड़ी कामयाबी हासिल हुई जब इंडियन मुजाहिदीन (आईएम) के एजाज शेख को सहारनपुर से गिरफ्तार कर लिया गया|

दिल्ली में जामा मस्जिद के बाहर ब्लास्ट समेत मुल्क के कई शहरों में ब्लास्ट के मामले में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल को उस वक्त बड़ी कामयाबी हासिल हुई जब इंडियन मुजाहिदीन (आईएम) के एजाज शेख को सहारनपुर से गिरफ्तार कर लिया गया|

स्पेशल सेल के स्पेशल सीपी एसएन श्रीवास्तव ने बताया कि एजाज शेख पुणे का रहने वाला है| जामा मस्जिद ब्लास्ट केस में इसकी सरगर्मी से तलाश थी|

एजाज शेख इंडियन मुजाहिदीन का बतौर मजबूत बुनियाद माना जाता है| जुमे की रात इत्तेला की बुनियाद पर सहारनपुर से इसे गिरफ्तार कर लिया|

पुणे में एक कॉल सेंटर कंपनी में काम करने वाले एजाज शेख पर इल्ज़ाम है कि उसने नकली शनाख्ती कार्ड और जाली दस्तावेज बनाने में आईएम ऑपरेटिव्स की मदद की|

ऐसा माना जाता है कि वह साल 2009 से आईएम के लिए काम कर रहा है और कई धमाकों में मुलव्वस रहा है जिसमें से एक जामा मस्जिद ब्लास्ट भी है|

पुलिस के ज़राए बता रहे हैं कि खदशा है कि आईएम मगरिबी उत्तर प्रदेश में किसी बड़े हमले को अंजाम देने की कोशिश में हो| यूपी के सहारनपुर से एजाज शेख की गिरफ्तारी इसी तरफ इशारा करती है|

वहीं, इंडियन मुजाहिदीन के लिए एजाज शेख की गिरफ्तारी किसी झटके से कम नहीं| बीते दो सालों में तंज़ीम के कई लोग गिरफ्तार हो चुके हैं| गुजश्ता साल मार्च के महीने में ही, तहसीन अख्तर ऊर्फ मोनू को नेपाल बॉर्डर से गिरफ्तार किया गया था| अख्तर बम बनाने का एक्सपर्ट है| इससे पहले, आईएम ऑपरेटिव जिया उर रहमान ऊर्फ वकास अपने तीन साथियों के साथ राजस्थान के अजमेर से गिरफ्तार हुआ था|

तंज़ीम के इंडियन ऑपरेटिव्स की कमान संभालने वाले यासीन भटकल और उसके खास साथी असादुल्लाह अख्तर को भी गुजश्ता साल नेपाल बॉर्डर से पकड़ा गया था|

TOPPOPULARRECENT