Wednesday , December 13 2017

मुस्लिम नौजवान की गिरफ़्तारी पर वज़ाहत तलबी

मुंबई, २३ जनवरी (पी टी आई) महाराष्ट्रा के ए टी एस और दिल्ली पुलिस के ख़ुसूसी सेल को दार-उल-हकूमत दिल्ली से एक नौजवान की गिरफ़्तारी के बाद मुश्किलात का सामना करना पड़ रहा है। एक मुस्लिम नौजवान की गिरफ़्तारी के फ़ौरी बाद क़ौमी अक़ल्लीयती

मुंबई, २३ जनवरी (पी टी आई) महाराष्ट्रा के ए टी एस और दिल्ली पुलिस के ख़ुसूसी सेल को दार-उल-हकूमत दिल्ली से एक नौजवान की गिरफ़्तारी के बाद मुश्किलात का सामना करना पड़ रहा है। एक मुस्लिम नौजवान की गिरफ़्तारी के फ़ौरी बाद क़ौमी अक़ल्लीयती कमीशन ने इस केस में हुकूमत महाराष्ट्रा से वज़ाहत तलब की है।

नई दिल्ली के मकीन नक़वी अहमद को महाराष्ट्रा के इन्सिदाद-ए-दहशत गर्दी उसको एड ने मुबय्यना तौर पर जाली दस्तावेज़ात के ज़रीया सिम कार्ड्स हासिल करने पर गिरफ़्तार किया था, लेकिन उन के अरकान ख़ानदान ने गिरफ़्तारी की अलहदा वजह बताई है।

अरकान ख़ानदान के मुताबिक़ ये नौजवान गुज़श्ता साल मुंबई में सिलसिला वार बम धमाकों के सिलसिले में बम बर्दारों की गिरफ़्तारी में ख़ुसूसी सेल की मदद कर रहा था। ज़राए ने बताया कि नक़वी अहमद, जिन का ख़ानदान बिहार से ताल्लुक़ रखता है, गुज़श्ता साल मुंबई में मुबय्यना तौर पर बम नसब करने वाले विक़ास और तब्रेज़ के दो ख़ाकों की शनाख़्त में सिक्योरिटी एजेंसीयों और ख़ुसूसी सेल की मदद कर रहे थे।

इस धमाका में 26 अफ़राद हलाक हुए थे। 23 साला नक़वी अहमद बज़ाहिर इन दो अफ़राद के ताल्लुक़ से जानते हैं, क्योंकि इन दोनों का उन के पड़ोसीयों में से एक पड़ोसी जमाली ने तआरुफ़ करवाया था, जिन्हें गुज़श्ता साल नवंबर में ख़ुसूसी सेल ने गिरफ़्तार किया था। उन्हों ने क्लोज़ सर्किट कैमरा की तस्वीर से भी विक़ास की शनाख़्त की है।

ये तस्वीर ज़ावेरी बाज़ार में एक दुकान के बाहर ली गई थी। दिल्ली पुलिस और मर्कज़ी सिक्योरिटी एजेंसीयों ने इन से दरख़ास्त की थी कि वो मुंबई में मुक़ीम दो अफ़राद की शनाख़्त करें। इस सिलसिले में नक़वी ने मदद की थी।

दिल्ली में नक़वी के भाई तक़्वे ने कहा कि इन के अरकान ख़ानदान को ये पता नहीं चला कि आख़िर उन के भाई का जुर्म क्या है, जो उन्हें गिरफ़्तार किया गया।

उन्हों ने क़ौमी अक़ल्लीयती कमीशन के चेयरमैन वजाहत हबीबउल्लाह से मुलाक़ात की और तमाम रूदाद से वाक़िफ़ करवाया। इस पर वजाहत हबीबउल्लाह ने नक़वी के भाई को हिदायत दी कि वो के इन दारू वाला से रब्त पैदा करें, जो क़ौमी अक़ल्लीयती कमीशन के रुकन हैं, जिन्हों ने इस मुआमले की निगरानी करते हुए महाराष्ट्रा हुकूमत से वज़ाहत तलब की है।

ज़राए के बमूजब के इन दारू वाला मुंबई पुलिस कमीशन अरूण पटनायक और महाराष्ट्रा ए टी एस सरबराह राकेश मारीया से रब्त पैदा किया, लेकिन कोई कामयाबी नहीं मिली, इस पर क़ौमी अक़ल्लीयती कमीशन ने महाराष्ट्रा के मोतमिद दाख़िला यू सी सारंगी को एक सख़्त मकतूब लिखा और उन से इस पूरे वाक़िया की रिपोर्ट फ़राहम करने की ख़ाहिश की।

TOPPOPULARRECENT