Tuesday , December 12 2017

मुस्लिम बुजुर्ग की हत्या का मामला : हिंदू युवा वाहिनी के छह सदस्यों के खिलाफ एफआईआर दर्ज

बुलंदशहर। पुलिस ने हिंदू युवा वाहिनी (एचआईवी) के छह सदस्यों के खिलाफ मुस्लिम बुजुर्ग की हत्या के आरोप में एफआईआर दर्ज की है। पुलिस अधीक्षक मान सिंह चौहान ने कहा कि प्राथमिकी दर्ज की गई है और इस मामले में जांच चल रही है।

 

 

 

 

आरोपियों ने पहले बुजुर्ग के घर में घुसकर तोड़फोड़ की और फिर लाठी-डंडों से पीट-पीट कर उनकी हत्यी कर दी थी जिससे पूरे इलाके में तनाव फैल गया था। गुलाम के पुत्र ने आरोप लगाया है कि एचआईवी के सदस्य उसके पिता की मौत में शामिल हैं।

 

 

 

 

रिपोर्टों के मुताबिक मृतक गुलाम मोहम्मद के पड़ोस में रहने वाला 22 साल का युसुफ कथित तौर पर पिछले हफ्ते एक हिंदू लड़की को लेकर चला गया था। हत्या के आरोपी युवकों का कहना था कि गुलाम मोहम्मद ने हिंदू लड़की को भगाने में युसुफ की मदद की थी।

 

 

 

 

 

 

इससे पहले शनिवार को मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने एचआईवी के कार्यकर्ताओं को चेतावनी दी थी कि वे जो भी काम करें, अच्छे व्यवहार बनाए रखने के लिए करें। उन्होंने कहा था कि वे भगवा रंग का दुरुपयोग नहीं करें क्योंकि इससे संगठन भाजपा की छवि खराब होगी।

 

 

 

 

 

आदित्यनाथ ने कहा था कि मैं एचआईवी नेताओं और कार्यकर्ताओं को शालीनता के साथ व्यवहार करने का अनुरोध करता हूं। अपनी पार्टी का बचाव करते हुए आदित्यनाथ ने कहा था कि गैरकानूनी कृत्य करने वाले एचआईवी नेता नहीं हैं।

 

 

 

 

 

उन्होंने कहा कि अक्सर होता है कि एक अज्ञात व्यक्ति भगवा दुपट्टा या पोशाक के साथ अभद्र और अवैध कार्य करता है और एचआईवी और भाजपा को दोषी ठहराया जाता है।

 

 

 

 

हिंदू युवा वाहिनी का गठन उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ही किया था। सूबे की सत्ता योगी आदित्यनाथ के हाथ आने के बाद से हिंदू युवा वाहिनी पर हिंसा करने के आरोप लगते रहे हैं।

TOPPOPULARRECENT