Wednesday , January 17 2018

मुस्लिम बैन: ट्रम्प ने अदालतों पर राजनीति करने का इल्ज़ाम लगाया

वॉशिंगटन। अमरीकी राष्ट्रपति ट्रंप ने बुधवार को पुलिस प्रमुखों की एक बैठक को संबोधित करते हुए संघीय अपील अदालत में 7 मुस्लिम बहुल्य देशों के नागरिकों के अमरीका यात्रा प्रतिबंध पर पुनर्विचार की सुनवाई को शर्मनाक करार दिया।

उन्होंने इस मामले पर अमरीका के अलग-अलग अदालतों में हो रही सुनवाई पर कहा कि ऐसा राजनीतिक कारणों से किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि लगता है कि अदालतें भी सियासी हो गई हैं और बेहतर होता कि वो बयानों को पढ़ते और वो करते जो सही है।

अमरीका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने अपने उस विवादास्पद आदेश का बचाव किया है, जिसमें उन्होंने मुस्लिम बहुल सात देशों के निवासियों के अमरीका आने पर पाबंदी लगाई है। उन्होंने राष्ट्रपति के रूप में अपने अधिकार की बात करते हुए कहा कि विदेशियों के अमरीका आने पर प्रतिबंध लगाने का उन्हें जो कानूनी अधिकार है, वह इतना स्पष्ट है कि एक हाई स्कूल के छात्र को भी यह समझना मुश्किल नहीं होगा।

इससे पहले अमरीकी जस्टिस डिपार्टमेंट की तरफ से जारी 15 पन्नों के एक दस्तावेज में भी बताया गया है कि ट्रंप का यह कार्यकारी आदेश बिल्कुल निष्पक्ष है और इसका किसी खास धर्म से कोर्ई संबंध नहीं है।

गौरतलब है कि अमरीका की एक अदालत ने इस प्रतिबंध पर रोक लगा दी है। अब अदालत के इस फैसले पर पुनर्विचार के लिए संघीय अपील अदालत में सुनवाई चल रही है। इस बीच, खबर है कि अमरीकी अपील कोर्ट ने राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप के विवादित यात्रा प्रतिबंध का बचाव करने वाले और उसे चुनौती देने वालों से कड़े सवाल पूछे हैं।

तीन जजों के एक पैनल ने राष्ट्रपति की ताकत को सीमित करने और सात देशों को आतकंवाद से जोडऩे पर सबूतों को लेकर कई सवाल खड़े किए हैं। कोर्ट ने यह भी पूछा है कि क्या इस फैसले को मुस्लिम-विरोधी नहीं देखा जाना चाहिए? उम्मीद की जा रही है कि इस हफते सैन फ्रांसिस्को के नौवें अमरीकी सर्किट कोर्ट तरफ से किसी भी दिन इस पर कोई फैसला आएगा।

TOPPOPULARRECENT