Saturday , November 18 2017
Home / District News / मुस्लिम मसाइल की बहेतर नुमाइंदगी के लिए इक़दामात

मुस्लिम मसाइल की बहेतर नुमाइंदगी के लिए इक़दामात

नांदेड़ ज़िला में पिछ्ले 6 माह के दौरान दहश्तगर्दी के इल्ज़ाम में मुस्लिम नौजवानें की ATS की तरफ से गिरफ़्तारी को लेकर शहर और ज़िला के बाअसर ज़ी शऊर अफ़राद में बे चैनी देखी गई है।

नांदेड़ ज़िला में पिछ्ले 6 माह के दौरान दहश्तगर्दी के इल्ज़ाम में मुस्लिम नौजवानें की ATS की तरफ से गिरफ़्तारी को लेकर शहर और ज़िला के बाअसर ज़ी शऊर अफ़राद में बे चैनी देखी गई है।

इसी सिलसिले में पिछ्ले माह सितंबर में मुस्लिम मुत्तहदा महाज़ बनाने की तरफ तेज़ी के साथ इक़दामात हुए हैं। इस सिलसिले में शहर के क़दीम इलाके में वाक़्य मस्जिद फ़तह जंग ख़ां नवाब में एक मीटिंग भी तलब किया गया था, जिस के बाद सफ़ा फंक्शन हाल में दूसरी नशिस्त मुनाक़िद की गई थी जिस में बा इतेफ़ाक़ शहर और ज़िला के अलावा मराठवाड़ा की मोतबर शख्सियत हर माह क़ानून जानिब मुहम्मद ज़ुल्फ़क़ार उद्दिन सिद्दीक़ी (ऐडवोकेट )को सदर मुंतख़ब किया गया।

और आमिला और शूरा के अलावा उहदेदारान को मुंतख़ब करने के जुमला इख़्तयारात भी मुहतरम एम ज़ेड सिद्दीक़ी को तफ़वीज़ किए गए थे। जिस के बाद ग़ौर-ओ-ख़ौस के बाद आज एक नशिस्त बाबू ख़ान स्टेट रेलवे स्टेशन रोड नांदेड़ पर मुनाक़िद की गई जिस में शहर के समाजी , सयासी , मज़हबी अफ़राद ने शिरकत की।

महाज़ की ज़िम्मे दारीयों को तक़सीम करने के मक़सद के तहत नीज़ मुस्तक़बिल के लिए मेंसूबा बंदी के मक़सद को लेकर आज की नशिस्त का आग़ाज़ जवाँसाल मुफ़्ती अय्यूब की तिलावत कलाम पाक के साथ किया गया।

नांदेड़ ज़िला के मुख़्तलिफ़ ताल्लुक़ा जात से तशरीफ़ लाए मुअज़्ज़ि हज़रात ने अपने ख़्यालात और कीमती मश्वरे और तजावीज़ पेश कीं, जिन में काबिल-ए-ज़िकर क़ंधार के बुज़ुर्ग सयासी क़ाइद जनाब बब्बर मुहम्मद , कनोट के साबिक़ा सदर बलदिया ईसा ख़ान , के अलावा मुफ़्ती मुहम्मद ख़ालिद शाकिर क़ासिमी और दुसरे मेहमानान ख़ुसूसी ने अपने ख़्यालात का इज़हार किया।

जबके निज़ामत के फ़राइज़ बहसन ख़ूबी ऐडवोकेट नसीर उद्दिन फ़ारूक़ी ने अंजाम दीए । नशिस्त की ग़रज़-ओ-ग़ायत जनाब अबदालना सर ख़तीब ने बयान की नशिस्त के आख़िरी हिस्से में मतहदद-ओ-महाज़ के सदर एम ज़ेड सिद्दीक़ी ने मुस्लिम मतहदद महाज़ की तशकील , मक़ासिद ओर अराकीन-ओ-आमिला के चुनाव को लेकर सैर हासिल गुफ़्तगु की। एम ज़ेड सिद्दीक़ी ने मज़कूरा कमेटी को उबूरी क़रार देते हुए कहा के महाज़ के लिए बाज़ाबता तौर पर दस्तूर तरतीब दिया जाएगा।

जिस के लिए उन्हों ने एक दस्तूर साज़ चार रुकनी कमेटी तशकील दी । जिस में ऐडवोकेट मुहम्मद खलील ख़ान ज़ई, अल्हाज ऐडवोकेट मुहम्मद ख़ान पठान(सदर आरजेडी , नांदेड़), मुहम्मद नसीर उद्दिन् फ़ारूक़ी के अलावा इस चार रुकनी कमेटी के चेअरमैन की हैसियत से अल्हाज ऐडवोकेट अबदुर्रहमान सिद्दीक़ी हा हुब्ब के नामों का ऐलान किया गया ।

TOPPOPULARRECENT