Friday , December 15 2017

मुस्लिम महिलाओं में आज भी शिक्षा और सामाजिक जागरूकता की सख्त जरूरत: सुदर्शन पाठक

A queue of Bahraini woman wearing Abaya robes with the Niqad covering their faces. REUTERS/Chris Helgren

नई दिल्ली। दिल्ली सामाजिक कल्याण बोर्ड चेयरपर्सन डॉक्टर सुदर्शन पाठक ने सहयोग विकास समिति द्वारा आयोजित अल्पसंख्यक मंत्रालय की ” नई रोशनी ” योजना के प्रशिक्षण शिविर को संबोधित किया. उन्होंने कहा कि मुस्लिम महिलाओं को ” नई रोशनी ” योजना से भरपूर लाभ उठाना चाहिए क्योंकि आज भी मुस्लिम महिलाओं में शिक्षा और सामाजिक जागरूकता की सख्त जरूरत है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

उन्होंने आगे कहा कि आमतौर पर सभी महिलाओं को और केवल मुस्लिम महिलाओं को अपने अधिकारों के बारे में जानकारी प्राप्त करनी चाहिए ताकि जरूरत पड़ने पर अपने लिए वह हक की लड़ाई लड़ सकें।

सीलमपुर में समापन कार्यक्रम में मौजूद महिलाओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि हमें सहयोग विकास समिति का शुक्रिया अदा करना चाहिए कि उनके माध्यम से भारत सरकार की यह योजना अपने तक पहुंची है।

आप सभी महिलाओं को न केवल खुद इन योजनाओं की जानकारी प्राप्त करनी चाहिए बल्कि अपने दोस्तों और रिश्तेदारों तक भी इसे पहुंचाना चाहिए. इन योजनाओं द्वारा खुद को खुदमुखतार बनाकर देश और समाज के प्रति अपनी जिम्मेदारी बखूबी अदा कर सकती हैं। इस अवसर पर विशेष मेहमानान सुश्री रेहाना और सुश्री गीता शर्मा ने सभा को संबोधित किया, और महिलाओं से संबंधित भारत सरकार की विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी और इन योजनाओं का लाभ लेने की सलाह भी दी।

इससे पहले सहयोग विकास समिति के सचिव सुरेश चंद्र शुक्ला ने सभी मेहमानों का स्वागत किया, और सोसाइटी के मकसद का ख़ुलासा किया। इस अवसर पर शरिया, इमरान, आलिया, रेहाना, गीता शर्मा, मीना देवी, रजत कुमार, नौशाद अहमद भी मौजूद थे. प्रोग्राम में बड़ी संख्या में स्थानीय महिलाओं और पुरुषों ने भाग लिया। शुक्ला ने सभी प्रतिनिधियों और मेहमानों का धन्यवाद किया।

TOPPOPULARRECENT