Thursday , December 14 2017

मुस्लिम मुआशरे को बेहयाई से बचाने पर ज़ोर:मुश्ताक़ मुल्क

मुस्लिम नौजवानों और बुज़ुर्गों(बुढो) को मुस्लिम मुआशरा को तबाही से बचाने के लिये उठ खड़े होना ज़रूरी है । शादियों में इसराफ़ की लानत , बेहूदा रसूम , होटल्स पार्कस में बेहयाई मुआशरा को खोखला कररही है । इन ख़्यालात का इज़हार जनाब मुहम्मद म

मुस्लिम नौजवानों और बुज़ुर्गों(बुढो) को मुस्लिम मुआशरा को तबाही से बचाने के लिये उठ खड़े होना ज़रूरी है । शादियों में इसराफ़ की लानत , बेहूदा रसूम , होटल्स पार्कस में बेहयाई मुआशरा को खोखला कररही है । इन ख़्यालात का इज़हार जनाब मुहम्मद मुश्ताक़ मुलक सदर तहरीक मुस्लिम शबान याकूत पूरा मस्जिद कोटला अहसनउल्लाह ख़ां में नमाज़ ज़ुहर के बाद मुस्लमान और इस्लाह मुआशरा के उनवान पर जलसा को ख़िताब करते हुए क्या ।

इस जलसे में नौजवानों और बुज़ुर्गों(बुढो) ने इस्लाह मुआशरा की इस तहरीक की पर ज़ोर हिमायत की । इस मौके पर जनाब मुहम्मद बिन अबदुल्लाह , जनाब मुहम्मद तौफ़ीक़ , जनाब फ़तह आलिम सदर मस्जिद कमेटी , जनाब सदर अलुद्दीन , जनाब ज़की अलुद्दीन-ओ-दीगर(अन्य) मोहल्ले के मोअज़्ज़िज़ीन के अलावा कसीर तादाद में लोग मौजूद थे ।।

TOPPOPULARRECENT