Friday , November 24 2017
Home / India / मुस्लिम युवक से बदला लेने के लिए एक वकील ने की आतंकवाद के इलज़ाम में फसाने की साज़िश

मुस्लिम युवक से बदला लेने के लिए एक वकील ने की आतंकवाद के इलज़ाम में फसाने की साज़िश

आगरा: एक बड़े ही बेतुके से वाकये में एक लड़के को आतंकवाद के इलज़ाम में फसाने की साज़िश का पर्दाफ़ाश हुआ है. एक औरत से बदला लेने के इरादे से एक वकील जिसका नाम मुकेश कुमार निम् है ने उसके दामाद को आतंकवाद के इलज़ाम में फसाने की कोशिश की, इस घिनौने काम के लिए उसने अपने भतीजे का सहयोग लिया और पूरी कोशिश की कि किसी भी तरह से एक निर्दोष को आतंक के इलज़ाम में फंसा ले.

टाइम्स ऑफ़ इंडिया में छपी रिपोर्ट के मुताबिक़,40 वर्षीय कुमार जो बसपा का नेता भी है, ने गीता और उसकी दो बेटियों की मदद एक ऐसे वक़्त पे की थी जब वो काफ़ी परेशान थी. गीता की बड़ी बेटी मीनाक्षी ने बाद में ख़ालिद से शादी कर ली. किसी बात से नाराज़ मुकेश ने गीता और उसके ख़ानदान को सबक़ सिखाने के लिए एक घिनौना प्लान बनाया, मुकेश का भतीजा जो साइबर कैफ़े चलाता है से मिलकर उसने ख़ालिद की आईडी पर सिम कार्ड निकलवा लिया, उस सिम से उन लोगों ने बम की धमकिया देते हुए आगरा पुलिस को फ़ोन किया और तमाम इस तरह के फ़ोन किये

पहले तो एटीएस ने ख़ालिद और उसके दोस्त आरिफ़ को सिम कार्ड की वजह से गिरफ़्तार कर लिया लेकिन बाद में जब सच्चाई सामने आई तो वो एक चौंकाने वाली बात थी, पुलिस ने बाद में मुकेश और आकाश को गिरफ़्तार कर लिया.
आगरा पुलिस सुपरिन्टेन्डेन्ट ने बताया कि “वकील और उसके भतीजे ने एक मासूम मुसलमान को आतंकवाद के इलज़ाम में फंसाने की कोशिश की और उसकी वजह सिर्फ़ अपनी जाति दुश्मनी थी”.

TOPPOPULARRECENT