Wednesday , December 13 2017

मुस्लिम राष्ट्रीय मंच ने किया आज ‘अंतरराष्ट्रीय रोजा इफ्तार’ का आयोजन

नई दिल्ली: आरएसएस के मुस्लिम राष्ट्रीय मंच (एमआरएम) ने शनिवार को एक ‘अंतरराष्ट्रीय रोजा इफ्तार’ पार्टी का आयोजन किया है |

समारोह में पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित को छोड़कर विभिन्न देशों के प्रतिनिधियों को आमंत्रित किया गया है | एमआरएम ने  पंपोर हमले में आठ सीआरपीएफ जवानों शहीद हो जाने पर बासित द्वारा की गयी ‘असंवेदनशील’ की टिप्पणी के बाद उन्हें आमंत्रित नहीं किये जाने का फ़ैसला लिया है

इस बीच, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) इफ्तार पार्टी का आयोजन करने की अफवाहों को बकवास करार दिया है |

आरएसएस ने एक ट्वीट में कहा कि मीडिया में आरएसएस द्वारा इफ़्तार पार्टी के आयोजन की ख़बरें तथ्यात्मक रूप से गलत हैं | राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ऐसी किसी भी पार्टी का आयोजन नहीं कर रहे हैं | राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने आगे कहा कि मुस्लिम राष्ट्रीय मंच (एमआरएम) द्वारा  इफ्तार पार्टी का आयोजन किया जा रहा है, ये राष्ट्रीय जागरूकता पैदा करने वाला एक स्वतंत्र मुस्लिम संगठन है|

आरएसएस ने अपने ट्वीटस में कहा कि , आरएसएस राष्ट्रीय मुद्दों पर एमआरएम से अपने विचार साझा करता है और किसी भी राष्ट्रीय कारण के लिए एमआरएम के राष्ट्रीय जागरुकता कार्यक्रम का समर्थन करता है।इंद्रेशजी आरएसएस के वरिष्ठ पदाधिकारी हैं और एमआरएम से संपर्क रखते हैं। वह एमआरएम में औपचारिक रूप से किसी पद पर नहीं हैं।

हिंदुओं और मुसलमानों के बीच खाई पाटने और दो समुदायों को एक साथ लाने के लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ द्वारा एमआरएम का गठन 2002 में किया गया था।शुरू में इसे राष्ट्रिय मुस्लिम आन्दोलन –एक नई राह कहा जाता था | 2005 में इसका दोबारा नामकरण मुस्लिम राष्ट्रिय मंच के तौर पर किया गया |

TOPPOPULARRECENT