Thursday , December 14 2017

मुस्लिम वोट के लिए हम पार्टी बीजेपी से अलग हो सकता है

पटना : एसेम्बली इन्तिखाब में शिकस्त के सामना के बाद हिन्दुस्तानी अवाम मोर्चा अक्लियतों का वोट पाने के लिए बीजेपी से अलग होने के इशारे दिए हैं. इलेक्शन के बाद हम के ओह्देदरान की मीटिंग से मिली जानकारी के मुताबिक मीटिंग में बीजेपी से अलग होने पर बातचीत हुई है. हम के रियासती सदर रोशन पटेल ने कहा की बीजेपी के साथ इत्तिहाद में होने के सबब इलेक्शन में हमें मुसलामानों ने वोट नहीं दिया. एनडीए के साथ रहें वाली पार्टियों को उनके वोट से हाथ धोना पड़ेगा. हमें मुसलमानों के वोट पाने के लिए हिकमत अमली तय करनी होगी.

उन्होंने कहा की अक्लियतों की खुशहाली के लिए हिकमत अमली बनायी जाएगी. सबकी राजामंदी होगी तो बीजेपी का साथ छोड़ा जा सकता है. इस मामले पर जल्द ही फैसला किया जाएगा. इलेक्शन में शिकास्त के लिए हम को कौमी सदर और साबिक वज़ीरे आला जीतन राम मांझी ने रिजर्वेशन के मामले पर भागवत के बयान को ज़िम्मेदार बताया था. उन्होंने कहा था के मोहन भागवत ने गलत वक़्त पर बयन दिया, जिसका फायदा अज़ीम इत्तिहाद ने उठाया. इलेक्शन के वक्त भी जीतनराम मांझी ने मर्क़ज़ी वज़ीरों के संघ के बयां पर बीजेपी को मुश्किल में दाल दिया था. मांझी ने कहा था की संघ की सोंच सरमायादाराना है और उनके बयान की जितनी भी मज्मत की जाय, कम है. वज़ीरे आज़म नरेन्द्र मोदी की ये मामला देखना चाहिए.

TOPPOPULARRECENT