मुहम्मद मर्सी ने फ़ौजी सरबराह तनतावी को बरतरफ़(suspend) करदिया

मुहम्मद मर्सी ने फ़ौजी सरबराह तनतावी को बरतरफ़(suspend) करदिया
सदर मिस्र मुहम्मद मर्सी ने आज ताक़तवर फ़ौजी सरबराह और उन के नंबर 2 साथी को बरतरफ़ करदिया । इस के इलावा सुप्रीम कौंसल की जारी करदा दस्तूरी तरमीम भी मंसूख़ करदी । उन्हों ने इस ग़ैर मामूली इक़दाम के ज़रीया फ़ौजी ग़लबा की हामिल आला क़ि

सदर मिस्र मुहम्मद मर्सी ने आज ताक़तवर फ़ौजी सरबराह और उन के नंबर 2 साथी को बरतरफ़ करदिया । इस के इलावा सुप्रीम कौंसल की जारी करदा दस्तूरी तरमीम भी मंसूख़ करदी । उन्हों ने इस ग़ैर मामूली इक़दाम के ज़रीया फ़ौजी ग़लबा की हामिल आला क़ियादत को हिलाकर रख दिया ।

मुल्क में इक़तिदार सँभालने वाली इस्लाम पसंद जमात के सदर मुहम्मद मर्सी ने फ़ील्ड मार्शल हुसैन तनतावी और नंबर 2 जनरल समीअ अन्नान को सुबकदोश करते हुए इन दोनों को सदर का मुशीर(एडवाइजर) मुक़र्रर किया है । इन दोनों को मिस्र का आला तरीन सरकारी एज़ाज़, नील मैडल भी दिया जा रहा है ।

सरकारी टेलीविज़न पर ये ऐलान ऐसे वक़्त किया गया जबकि सैनाई में फ़ौजी कार्रवाई जारी है जहां गुज़श्ता हफ़्ता इंतहापसंदों के हमला में 16 सिपाही हलाक होगए थे । सदर मर्सी के इस ग़ैरमामूली इक़दाम की फ़ौरी तौर पर कोई वजह नहीं बताई गई ।

17 जून को दस्तूरी तरमीम के तहत फ़ौज ने मुक़न्निना के इख़्तयारात पर कंट्रोल हासिल करलिया और सदर के इख़्तयारात महदूद करदिए थे । सुप्रीम कोर्ट ने मुंख़बा पार्लीमैंट को बरतरफ़ करने का फ़ैसला दिया जिस के बाद ये तरमीम की गई थी ।

60 साला मुहम्मद मर्सी इख़वान उल मुस्लिमीन के क़ाइद हैं जो जारीया साल जून में ऐसे वक़्त सदर मुंतख़बहुए जबकि मुल्क में दस्तूरी ख़ला पाया जाता है । अभी ये वाज़ेह नहीं हो सका कि मुकम्मल दस्तूर ना होने की बिना उबूरी दस्तूर में सदर को फ़ौजी सरबराह को बरतरफ़ करने का इख़तियार है या नहीं ।

ये ग़ैर मुतवक़्क़े तबदीली ऐसे वक़्त हुई जब मिस्री फ़ौज सैनाई में ऑप्रेशन जारी रखे हुए है और आज भी इस के तीन सिपाहीयों की मौत होगई ।

Top Stories