Sunday , September 23 2018

मुहम्मद मर्सी ने फ़ौजी सरबराह तनतावी को बरतरफ़(suspend) करदिया

सदर मिस्र मुहम्मद मर्सी ने आज ताक़तवर फ़ौजी सरबराह और उन के नंबर 2 साथी को बरतरफ़ करदिया । इस के इलावा सुप्रीम कौंसल की जारी करदा दस्तूरी तरमीम भी मंसूख़ करदी । उन्हों ने इस ग़ैर मामूली इक़दाम के ज़रीया फ़ौजी ग़लबा की हामिल आला क़ि

सदर मिस्र मुहम्मद मर्सी ने आज ताक़तवर फ़ौजी सरबराह और उन के नंबर 2 साथी को बरतरफ़ करदिया । इस के इलावा सुप्रीम कौंसल की जारी करदा दस्तूरी तरमीम भी मंसूख़ करदी । उन्हों ने इस ग़ैर मामूली इक़दाम के ज़रीया फ़ौजी ग़लबा की हामिल आला क़ियादत को हिलाकर रख दिया ।

मुल्क में इक़तिदार सँभालने वाली इस्लाम पसंद जमात के सदर मुहम्मद मर्सी ने फ़ील्ड मार्शल हुसैन तनतावी और नंबर 2 जनरल समीअ अन्नान को सुबकदोश करते हुए इन दोनों को सदर का मुशीर(एडवाइजर) मुक़र्रर किया है । इन दोनों को मिस्र का आला तरीन सरकारी एज़ाज़, नील मैडल भी दिया जा रहा है ।

सरकारी टेलीविज़न पर ये ऐलान ऐसे वक़्त किया गया जबकि सैनाई में फ़ौजी कार्रवाई जारी है जहां गुज़श्ता हफ़्ता इंतहापसंदों के हमला में 16 सिपाही हलाक होगए थे । सदर मर्सी के इस ग़ैरमामूली इक़दाम की फ़ौरी तौर पर कोई वजह नहीं बताई गई ।

17 जून को दस्तूरी तरमीम के तहत फ़ौज ने मुक़न्निना के इख़्तयारात पर कंट्रोल हासिल करलिया और सदर के इख़्तयारात महदूद करदिए थे । सुप्रीम कोर्ट ने मुंख़बा पार्लीमैंट को बरतरफ़ करने का फ़ैसला दिया जिस के बाद ये तरमीम की गई थी ।

60 साला मुहम्मद मर्सी इख़वान उल मुस्लिमीन के क़ाइद हैं जो जारीया साल जून में ऐसे वक़्त सदर मुंतख़बहुए जबकि मुल्क में दस्तूरी ख़ला पाया जाता है । अभी ये वाज़ेह नहीं हो सका कि मुकम्मल दस्तूर ना होने की बिना उबूरी दस्तूर में सदर को फ़ौजी सरबराह को बरतरफ़ करने का इख़तियार है या नहीं ।

ये ग़ैर मुतवक़्क़े तबदीली ऐसे वक़्त हुई जब मिस्री फ़ौज सैनाई में ऑप्रेशन जारी रखे हुए है और आज भी इस के तीन सिपाहीयों की मौत होगई ।

TOPPOPULARRECENT