Wednesday , February 21 2018

मुहम्मद महमूद अली की काबीना में शमूलीयत का ख़ौरमक़दम

मालिक मोतसिम ख़ान सदर रियासती वेलफेयर पार्टी आफ़ इंडिया तेलंगाना प्रदेश ने 2 जून को तारीख़ी क़ियाम तेलंगाना के मौके पर तेलंगाना की अवाम को नई रियासत की नई हुकूमत की मुबारकबाद पेश की।

मालिक मोतसिम ख़ान सदर रियासती वेलफेयर पार्टी आफ़ इंडिया तेलंगाना प्रदेश ने 2 जून को तारीख़ी क़ियाम तेलंगाना के मौके पर तेलंगाना की अवाम को नई रियासत की नई हुकूमत की मुबारकबाद पेश की।

मौसूफ़ ने इस मौके पर क़ियामे तेलंगाना के मक़ासिद का ज़िक्र करते हुए कहा कि ये इलाके ग़ैर मुतवाज़िन तरक़्क़ी और हुकमरानों की तरफ़ से नाइंसाफ़ी का शिकार रहा है।

मौजूदा हुकूमत की ज़िम्मेदारी हैके वो इलाके की अवाम के साथ ग़ैर मुतवाज़िन तरक़्क़ी और ज़ुलम-ओ-नाइंसाफ़ी का ख़ातमा करे। मौसूफ़ ने कहा कि1958 में क़ियाम आंध्र प्रदेश से रियासत में सब से ज़्यादा नुक़्सान मुस्लिम अवाम को हुआ था।

वो तालीम, रोज़गार और मईशत-ओ-सियासत में पिछड़ के रह गए थे अब उसकी तलाफ़ी का मौक़ा है और नई हुकूमत इस सिलसिले में अपने किए गए वादे को पूरा करे। मौसूफ़ ने काबीना में मुहम्मद महमूद अली की शमूलीयत का ख़ौरमक़दम किया और कहा कि नई काबीना और हुकूमत में बेहतर नुमाइंदगी की ज़रूरत है। सदर वेलफेयर पार्टी ने कहा कि वो मौजूदा हुकूमत की कारकर्दगी और किए गए वादों की तकमील का जायज़ा लेंगे। अगर कोई बेहतर इक़दामात ना हूँ तो रियासत भर में अवामी मुतालिबात की तकमील के लिए वेलफेयर पार्टी अवामी मुहिम चलाएगी।

TOPPOPULARRECENT