Wednesday , April 25 2018

मुक़द्दस रातों को बाज़ारों में नाजाने की तलक़ीन

हैदराबाद 11 जून: शहर में माह रमज़ान उल-मुबारक के पहले जुमा के मौके पर बाद नमाज़-ए-जुमा के बाद बारिश के लिए ख़ुसूसी दुआओं का एहतेमाम किया गया। मक्का मस्जिद में मौलाना हाफ़िज़ मुहम्मद रिज़वान क़ुरैशी ख़तीब मक्का मस्जिद ने नमाज़-ए-जुमा की इमामत की और ख़ुतबा दिया।

शहर की मुख़्तलिफ़ मसाजिद में जलसा हाय यौम उल-क़ुरआन मुनाक़िद किए गए मसाजिद में फ़ज़ाइल रमज़ान उल-मुबारक बयान करते हुए इस महीना का एहतेराम करने की तलक़ीन की। अइम्मा-ओ-ख़तीब हज़रात ने नमाज़-ए-जुमा से पहले अपने बयान के दौरान कहा कि माह-ए-मुबारक के पहला अशरा रहमतों वाला है। इस महीने में अल्लाह ने सवाब में इज़ाफ़ा फ़रमाते हुए उम्मत पर एहसान किया है। उल्मा इकराम ने ख़ुतबा जुमा के दौरान मुसलमानों को मश्वरह दिया कि वो इबादतों और क़ियाम अललील के ज़रीये रब कायनात की ख़ुशनुदी हासिल करें। जामा मस्जिद चौक में मौलाना हाफ़िज़ मुहम्मद अलीमुद्दीन क़ुरैशी ने नमाज़-ए-जुमा की इमामत की और ख़ुतबा दिया।

उल्मा इकराम ने नौजवानों को रमज़ान उल-मुबारक की क़ीमती साअतों खास्कर इस माह-ए-मुबारक की रातों को बाज़ारों में ज़ाए ना करने की तलक़ीन करते हुए कहा कि इस महीने का एहतेराम करें और अल्लाह की रहमत से ख़ूब इस्तेफ़ादा करें।

TOPPOPULARRECENT