Monday , December 18 2017

मुज़फ़्फ़र नगर के मुतास्सिरीन के लिए रोज़नामा सियासत की इमदादी सरगर्मीयां

उत्तरप्रदेश के फ़साद से मुतास्सिरा इलाक़ा मुज़फ़्फ़र नगर के मुतास्सिरीन की इमदाद के साथ साथ तालीम की फ़राहमी के लिए रोज़नामा सियासत ने जो मसाई की है उस के मुसबत असरात मुरत्तिब हो रहे हैं।

उत्तरप्रदेश के फ़साद से मुतास्सिरा इलाक़ा मुज़फ़्फ़र नगर के मुतास्सिरीन की इमदाद के साथ साथ तालीम की फ़राहमी के लिए रोज़नामा सियासत ने जो मसाई की है उस के मुसबत असरात मुरत्तिब हो रहे हैं।

मुज़फ़्फ़र नगर के जोगिया खेड़ा और दीगर इलाक़ों में रोज़नामा सियासत की जानिब से मुतास्सिरीन में कपड़े, कम्बल और दीगर अशीया तक़सीम की गईं। इस के इलावा मुतास्सिरीन के बच्चों को बुनियादी तौर पर अंग्रेज़ी तालीम से आरास्ता करने के लिए एजूकेशन सेंटर क़ायम किया गया। इस सेंटर में तक़रीबन 200 से ज़ाएद कमसिन बच्चे अंग्रेज़ी की तालीम हासिल कर रहे हैं।

एजूकेशन सेंटर में 4 असातिज़ा और एक इंचार्ज को मुक़र्रर किया गया है जो बच्चों की तालीम की निगरानी कर रहे हैं। इन ग़रीब बच्चों को नोट बाक्स और दीगर तालीमी मेटेरीयल रोज़नामा सियासत ने अपने ख़र्च से फ़राहम किया है।

मुज़फ़्फ़र नगर के मुतास्सिरीन की इमदाद के सिलसिले में क़ारईन सियासत के तआवुन से जमा कर्दा इमदादी अशीया के साथ दो रुक्नी टीम को मुज़फ़्फ़र नगर रवाना किया गया जिन में मेसर्स एम एन बेग ज़ाहिद और अज़हर समीअ उद्दीन शामिल हैं।

मुज़फ़्फ़र नगर से मौसूला इत्तिलाआत के मुताबिक़ हुकूमत ने जबरी तौर पर रीलीफ़ कैंप को ख़त्म कर दिया ताकि मुतास्सिरीन अपने आबाई मुक़ामात वापिस हो सकें लेकिन अभी तक अमनो ज़ब्त की सूरते हाल इतमीनान बख़्श ना होने के सबब मुतास्सिरा ख़ानदान अपने मवाज़आत वापिस होने से गुरेज़ कर रहे हैं।

रोज़नामा सियासत ने मिल्लत फ़ंड के ज़रीए मुतास्सिरीन की बाज़ आबादकारी का मंसूबा बनाया है ताकि वो महफ़ूज़ मुक़ामात पर ख़ुशहाल ज़िंदगी बसर कर सकें।

TOPPOPULARRECENT