Monday , December 18 2017

मेडिकल आलात खरीद में सौ करोड़ का घोटाला : सुशील मोदी

साबिक़ नायब वजीरे आला सुशील मोदी ने कहा कि दवा की तरह मेडिकल आलात की खरीद में भी घोटाला हुआ है। इसमें तकरीबन एक सौ करोड़ का घोटाला बताते हुए मोदी ने इसकी तहक़ीक़ात सीबीआइ से कराने की मुतालिबा की है।

साबिक़ नायब वजीरे आला सुशील मोदी ने कहा कि दवा की तरह मेडिकल आलात की खरीद में भी घोटाला हुआ है। इसमें तकरीबन एक सौ करोड़ का घोटाला बताते हुए मोदी ने इसकी तहक़ीक़ात सीबीआइ से कराने की मुतालिबा की है।

पोलो रोड वाकेय अपने रियाहिशगाह पर सहाफ़ियों से बातचीत में उन्होंने कहा कि एजी ने 20 अगस्त को 23 करोड़ की आठ मशीनों की खरीद की सैंपल तहक़ीक़ात में घोटाला पकड़ा है। एजी की यह रिपोर्ट मुङो मिल गयी है, जिसमें कहा गया है कि बीएमएसआइसीएल की तरफ से आलात की खरीद में टेंडर अमल का भी खिलाफवर्जी किया गया है।

मोदी ने कहा, साल 2013 में नीतीश कुमार के वजीरे आला के साथ सेहत वज़ीर रहते हुए यह खरीदारी हुई। हिमोडायलिसिस मशीन की खरीदारी में तीन टेंडर भरने वालों ने हिस्सा लिया। एजीएस अस्पताल के पलंग और चादर का सपलाय करने वाला श्री यश ट्रेडिंग कंपनी को सिर्फ मुक़ाबले में दिखाने के लिए इनकी टेंडर ली गयी। टेंडर शुरू होने के पहले इन दोनों कंपनियों ने टेंडर वापस ले ली और विशाल सजिर्कल ने टेंडर के अमल को मैनेज कर मंजूरी हासिल कर लिया। तीन सौ और पांच सौ एमएस एक्स रे मशीन की खरीद में भी इश्तिहार निकाला गया और एलेंसजर्स कंपनी के टेंडर को मंसूख कर दिया। बाद में हुई टेंडर को इस कंपनी के मुताबिक कर महज़ एक टेंडर रहने के बावजूद मशीन की सप्लाय का हुक्म दे दिया गया।

उन्होंने कहा कि मेरे पास दस्तावेज है कि तमाम मेडिकल आलात केरल और राजस्थान से ज़्यादा कीमत पर खरीदे गये हैं। उन्होंने कहा कि जिस वक़्त का यह मामला है, उस वक़्त संजय कुमार आलात और दावा खरीद की तकनीकी समिति के सदर थे। वे मौजूदा वजीरे आला नीतीश कुमार के ज़ाती सेक्रेटरी भी थे। अब जब घोटाला सामने आ रहा है, तो रियासती हुकूमत ने संजय कुमार को दिल्ली वापसी के लिए रिलीव कर दिया है। हुकूमत में हिम्मत है, तो इसकी सीबीआइ से तहक़ीक़ात कराये। नीतीश कुमार को बचाने के लिए रामधनी सिंह जैसे बीमार और जाईफ को सेहत वज़ीर बना दिया गया है। सेहत वज़ीर की तरफ से दस साल की मुद्दत की तहक़ीक़ात कराने का ऐलान पर उन्होंने कहा कि वे 50 साल की तहक़ीक़ात करायें, हमें कोई एतराज नहीं है। उन्होंने कहा कि अस्पतालों और मेडिकल कॉलेजों के इमारत तामीर में घोटाले की जानकारी अगले सप्ताह देंगे।

TOPPOPULARRECENT