Saturday , August 18 2018

मेडिकल दाखिला घोटाला में बड़ा खुलासा : घूस के लिए कोडवर्ड का इस्तेमाल कर रहे थे जज

नई दिल्ली : सुप्रीम कोर्ट की रोक के बावजूद मेडिकल कॉलेजों में दाखिला देने से जुड़े घोटाले में एक बड़ा खुलासा हुआ है। घोटाले में शामिल जज घूस के लिए कोडवर्ड का इस्तेमाल कर रहे थे। सीबीआई को जांच के दौरान रिकॉर्ड की गई टेलीफोन बातचीत से पता चला है कि घोटाले में शामिल जज घूस लेने के लिए ‘प्रसाद’, ‘मंदिर’, ‘बही’, ‘गमला’ और ‘सामान’ जैसे कोड वर्ड्स का इस्तेमाल करते थे।

इस मामले में ओडिशा के रिटायर्ड जज आईएम कुद्दुसी को भी गिरफ्तार किया जा चुका है और वह फिलहाल जेल में हैं। रिकॉर्ड की गई बातचीत में जो लोग बात रहे हैं उसमें एक आवाज कुद्दुसी की बताई जा रही है। वहीं दूसरी आवाज बिचौलिए बिचौलिये विश्वनाथ अग्रवाल और प्रसाद एजुकेशन ट्रस्ट के बीपी यादव की है।

इस रिकॉर्ड बातचीत में उन्होंने न केवल प्राइवेट मेडिकल कॉलेज को कानूनी मदद मुहैया कराई बल्कि सुप्रीम कोर्ट में भी इस मामले में उनको राहत देने वाले फैसला का वादा किया था। मामले में इलाहाबाद हाई कोर्ट के दो मौजूदा जज भी सीबीआई की जांच के घेरे में हैं।

प्रसाद मेडिकल कॉलेज उन 46 कॉलेजों में से था जिस पर मेडिकल दाखिले पर रोक लगी थी क्योंकि वो पैमाने पर खरा नहीं था। इन बिचौलियों को मोदी सरकार का भी डर सता रहा है। बिचौलिए आपस में बात करते हुए कहते हैं कि चायवाले की सरकार सब देख रही है।

 

क्या हो रही है बातचीत?

विश्वनाथ- हां मुझे लगता है, किस मंदिर में है ये? दिल्ली के मंदिर में या इलाहाबाद के?

कुद्दूसी- नहीं नहीं अभी किसी मंदिर में तो नहीं है ये.

विश्वनाथ- अगर कोई दिक्कत होती है तो वो खुद कह रहे थे जिसके बारे में उन्होंने कल बात की थी. उन्होंने कहा है सौ लोग देंगे. समीक्षा की अनुमति होगी.

बाकी एक कंपनी के लिए वो ढाई देंगे, तीन आप लेंगे और बाकी 50 आप लोग रखेंगे. वो ऐसा कह रहे थे कि जो भी दो या तीन कंपनियां हों वो कर देंगे.

यादव- ढाई के अंदर करवा दो यार, मेरी क्षमता ढाई तक की ही है, करवा दो. देखो जैसा बोला गया है तुम अभी दो लोगे हमसे. एडमिशन हो जाएगा तो हम एक करोड़ जज को भेज देंगे.

विश्वनाथ (यादव से)- काम की गारंटी सौ नहीं 500% की है, लेकिन सामान पहले देना होगा और वो मुलाकात के लिए मना कर रहे हैं क्योंकि जो सरकार चल रही है, चायवाले की सरकार वो सब देख रही है. यही समस्या है.

विश्वनाथ (कुद्दूसी से)– अब पापा एक बात कह रहे हैं, एक बात वह जो कह रहे हैं कि हमारा कैप्टन जो है, आल ओवर इंडिया, जो भी काम हो, वह करने को तैयार है.

TOPPOPULARRECENT