Friday , December 15 2017

मेदक में 108 उर्दू मीडियम असातिज़ा की जायदादों की मंज़ूरी

सांगरेड्डी 12 मई: ज़िला मेदक के तर्बीयत याफ़ता उर्दू टीचर्स के लिए इंतिहाई ख़ुशी के साथ ये एलान हुआ कि उर्दू मीडियम स्कूलस के लिए ज़िला मेदक में 108 जायदादों की मंज़ूरी अमल में आई।

सांगरेड्डी 12 मई: ज़िला मेदक के तर्बीयत याफ़ता उर्दू टीचर्स के लिए इंतिहाई ख़ुशी के साथ ये एलान हुआ कि उर्दू मीडियम स्कूलस के लिए ज़िला मेदक में 108 जायदादों की मंज़ूरी अमल में आई।

मुहम्मद रियाज़ अहमद ख़ां सदर उर्दू टीचर्स फ़ोर्म ज़िला मेदक मुस्तक़र सांगरेड्डी ने इन ख़्यालात का इज़हार अपने प्रेस नोट में क्या। उन्होंने बताया कि डायरेक्टर आफ़ स्कूल एजूकेशन आंध्र प्रदेश ने 20 फ़बरव‌री 2013‍ को जी ओ नंबर 43 जारी करते हुए 216 जायदादों की मंज़ूरी दी।

इस ख़सूस में डी ई ओ ज़िला मेदक जी रमेश ने ज़िला के तमाम मंडल एजूकेशन ऑफीसरस कि मीटिंग तलब करते हुए हिदायत दी कि एसे स्कूलस जहां पर टीचर्स की जायदादें मंज़ूर नहीं हैं उन की तमाम तर तफ़सीलात डिस्ट्रिक्ट एजूकेशन ऑफ़िस को पेश की जाएं और हक़ तालीम बराए मुफ़्त-ओ-लाज़िमी तालीम 2009 की रोशनी में हर 30 तलबा की तादाद पर एक टीचर जायदाद या कम अज़ कम दो टीचर्स जायदादों को हर एक स्कूल के लिए मंज़ूर करने के लिए अहकामात जारी किए।

इस तरह ज़िला मेदक में मौजूद 58 प्राइमरी-ओ-अप्पर प्राइमरी स्कूलस के लिए जुमला 108 उर्दू टीचर्स जायदादों की मंज़ूरी दे दी। 20 ता 30 उर्दू जायदादों की मंज़ूरी के भी इमकानात बताए जा रहे हैं।

उन्होंने बताया कि साल 2004 से ज़िला में इन उर्दू मीडियम स्कूलस का आग़ाज़ हुआ था जिन को ओहदेदारान तालीमात ने कई तरीक़ों से बंद करवाने कोई कसर नहीं छोड़ी।

लम्बा अर्सा बाद ज़िला मेदक में इतनी बड़ी तादाद में उर्दू मीडियम टीचर्स की जायदादों की मंज़ूरी दिगइ।

सदर उर्दू टीचर्स फ़ोर्म ज़िला मेदक रियाज़ अहमद ख़ान ने रियास्ती महिकमा तालीमात के ओहदेदारों का शुक्रिया
अदा किया और ज़िला डी ई ओ जी रमेश का भी शुक्रिया अदा किया।

TOPPOPULARRECENT