मेरे अपने हैं मुसलमान, कोई इन्हें वोट बैंक की मंडी न समझे: मोदी

मेरे अपने हैं मुसलमान, कोई इन्हें वोट बैंक की मंडी न समझे: मोदी

नई दिल्ली: बीजेपी के नेता पंडित दीनदयाल जन्म शताब्दी के मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि देश के मुसलमानों को वोट बैंक की मंडी ना समझा जाए। इन्हे सशक्त करने का काम किया जाना जरूरी है। भारत एक लोकतांत्रिक देश है और लोकतंत्र में हिंसा कभी भी और किसी भी शर्त पर बर्दास्त नहीं होगी। हम देश में रहने वाले सभी धर्मों के लोगों को साथ लेकर चलने में यकीन रखती है।

यहांं गरीबों-अमीरों में फर्क नहीं किया जाएगा। नेताओं की तरफ लोगों के देखने का नजरिया बदल सकता है। पंडित दीनदयाल हमें मंत्र देकर गए हैं कि चलते, रहो चलते, चलते रहो और हमारे शास्त्रों में हमे सिखाया है कि जनसेवा सबसे बड़ी सेवा है।

Top Stories