Saturday , September 22 2018

मुझ पर हमला मुसलमानों के बोलने की आज़ादी पर हमला है :जाकिर नाईक

इस्लामिक स्कॉलर जाकिर नाईक ने एक ख़त लिखकर उनके और उनके संघठनो के खिलाफ हो रही जाँच को साजिश बताया और इस तरह की हरकतों को पुरे भारतीय मुस्लिमो पे हमला बताया .

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

अपने इस ओपन लेटर में जाकिर नाइक ने इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन पर बैन केवल उनके लिए नहीं बल्कि भारत के 20 करोड़ मुसलमानों के खिलाफ अन्याय है. सरकार के इस कदम को नाइक ने शांति, लोकतंत्र व न्याय पर हमला करार दिया है. नाइक ने कहा कि उनके संगठन पर प्रतिबंध वाला कदम मुख्यधारा से कटे हर तत्व को अपने मनमुताबिक कदम उठाने को प्रेरित करेगा.

खुद को मुसलमानों के बीच सबसे बड़ा और लोकप्रिय व्यक्ति बताते हुए नाइक ने लिखा है कि अगर आप मुस्लिम समुदाय के ‘इस’ शख्स को नीचा दिखाएंगे

और उसे शैतान के रूप में पेश करेंगे तो बाकी सब बिल्कुल आसान हो जाएगा. इसलिए जो भी हो रहा है वह एक साजिश है, और इसको करने की कोई वजह नहीं दिख रही.

TOPPOPULARRECENT