Wednesday , June 20 2018

मेवात कांड: डींगरहेड़ी गांव में गैंगरेप करने वाले गौ रक्षक थे, माइनॉरिटी कमीशन की रिपोर्ट

नई दिल्ली। मेवात के डिंगरहेड़ी गांव में मुस्लिम लड़कियों के साथ गैंगरेप और दो लोगों की हत्या मामले पर राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग की रिपोर्ट में चौंकाने वाले तथ्य सामने आए हैं। आयोग ने इस घटना के पीछे गौरक्षकों की भूमिका पर सवाल उठाए हैं। आयोग के रिपोर्ट सामने आया है कि गौरक्षकों के आतंक से मेवात और उसके आसपास रहने वाले मुस्लिम परिवार दहशत में रहते हैं।

आरोपी ने बताया खुद को आरएसएस कार्यकर्ता

दरअसल जिन आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है, उनमें एक खुद को आरएसएस का कार्यकर्ता का बताता है। उसने अपने फेसबुक पेज पर भी आरएसएस कार्यकर्ता लिखा है। वहीं दूसरे आरोपी भी उसके सहयोगी हैं। राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग की रिपोर्ट में गौरक्षकों की बात सामने आने पर साबित हो गया है ये घटना साम्प्रदायिक है।

क्या है मेवात कांड?

गौरतलब है कि 24 अगस्त को मेवात के डिंगहेरी गांव में आधी रात को मुस्लिम परिवार पर बदमाशों ने धावा बोल दिया था। जमकर लूटपाट की थी। विरोध करने पर दो लोगों को जान से मार दिया था। साथ ही दो मुस्लिम लड़कियों के साथ गैंगरेप किया गया था।

TOPPOPULARRECENT