Wednesday , June 20 2018

मैं गरीब और पसमानदा खानदान से हूं इसलिए नीतीश-लालू मेरे पीछे पड़े : मोदी

छपरा/मढ़ौरा : वजीरे आजम नरेंद्र मोदी ने नीतीश-लालू पर गरीब मुखालिफत होने का इल्ज़ाम लगाते हुए कहा कि मैं गरीब खानदान से आता हूं, इसलिए ये दोनों मेरे पीछे पड़े हुए हैं। उन्होंने कहा कि किसी भी गरीब को मैं अपनी बिरादरी का समझता हूं। जब मैं बचपन में चाय बेचा करता था, तो सामंतवादी विचार के लोग मेरी पिटाई करते थे और बिहार में इस साल इंतिख़ाब प्रोग्राम में माइकवाले को उठा कर पटक देने की बात कहते हैं। वह इतवार को मढ़ौरा के खेदन प्रसाद 10+स्कूल के मैदान में इजलास को खिताब कर रहे थे। मढ़ौरा के बाद उन्होंने हाजीपुर, बिहारशरीफ और पटना के नौबतपुर में भी इजलास को खिताब किया।

मढ़ौरा में वजीरे आजम ने कहा कि बिहार दूसरी हरित क्रांति की अगुआई करेगा, इसलिए मरकज़ में बिहारी लीडर को ज़ीराअत वज़ीर बनाया है। रियासत में एनडीए की हुकूमत बनते ही किसानों के लिए 24 घंटे बिजली की निजाम कर उन्हें खुशहाल बनायेंगे। पीएम ने लालू व नीतीश पर हमला बोला। कहा कि बड़े-छोटे भाइयों ने काम नहीं किया, इसलिए बिहार बदहाल है। नौजवानों के सामने नकल मकानी की बेबसी है। उनकी गलत पॉलिसियों की वजह से यहां बेरोजगारी बढ़ी और नौजवानों को घर-बार छोड़ना पड़ा। दोनों भाइयों की वजह से ही बिहारी दूसरे रियासतों में बाहरी बने हैं और उनकी दो पीढ़ियों की जिंदगी तबाह हुआ है। तरक़्क़ी की बात करने के बजाय दोनों भाई रैलियों में मोदी को कोसने में जुटे हैं। अपने 25 साल के कामों का हिसाब अवाम को न देकर जम्हूरियत की बेजती कर रहे हैं। मोदी ने कहा कि इस बार बिहार में दो बार दीवाली मनेगी। यहां अवाम बदलाव का मन बना चुकी है। उन्होंने कहा कि अब लालू व नीतीश के दिन खत्म हो गये हैं।

सीएम नीतीश को अवसरवादी बताते हुए पीएम मोदी ने कहा कि साबिक़ वजीरे आजम चंद्रशेखर ने कांग्रेस को छोड़ कर जयप्रकाश नारायण का साथ दिया था। वहीं, उनके शागिर्द नीतीश जी ने जेपी को छोड़ कर कुरसी की खातिर कांग्रेस का साथ लिया। उन्होंने कहा कि जहां अजीम इत्तिहाद के लीडर अपना ज़्यादातर वक्त मुझे कोसने में बरबाद करते हैं, वहीं हमारे लीडर तरक़्क़ी की बात करते हैं। किसानों के खेत में पानी, बेरोजगारों को रोजगार, अस्पतालों में दवाई हमारी तरजीह है।

पीएम ने कहा कि बिहार में एनडीए के हुकूमत में आने पर छह नुकती प्रोग्राम पर अमल करेंगे। बिजली, पानी व सड़क की बेहतर इंतेजाम होगी। नौजवानों के लिए पढ़ाई, अहले खाना के लोगों के लिए कमाई और बीमार व बुजुर्गों के लिए दवाई का इंतजाम करेंगे।

 

TOPPOPULARRECENT