Thursday , December 14 2017

मैं गारों में रुपोश नहीं हूँ, अमेरीका को अपना पता बताउँगा

जमातुद दावा के जंगजू सरबराह हाफ़िज़ मुहम्मद सईद ने आज इंतिहाई जारिहाना तीव्र अपनाते हुए अमेरीका को चैलेंज किया कि वो उनके ख़िलाफ़ भी वैसा ही फ़ौजी हमला करे जिस तरह ओसामा बिन लादेन को हलाक करने के लिए किया गया था। हाफ़िज़ मुहम्मद सईद

जमातुद दावा के जंगजू सरबराह हाफ़िज़ मुहम्मद सईद ने आज इंतिहाई जारिहाना तीव्र अपनाते हुए अमेरीका को चैलेंज किया कि वो उनके ख़िलाफ़ भी वैसा ही फ़ौजी हमला करे जिस तरह ओसामा बिन लादेन को हलाक करने के लिए किया गया था। हाफ़िज़ मुहम्मद सईद ने कहा कि वो रुपोश नहीं हैं और अमेरीकीयों को वो ख़ुद अपना पता और ठिकाना बताएंगे।

हाफ़िज़ सईद ने दिफ़ा पाकिस्तान कौंसल के दीगर क़ाइदीन के साथ फ़ौजी छावनी नुमा शहर रावलपिंडी के फ्लाश मियान होटल में एक प्रेस कान्फ्रेंस से ख़िताब के दौरान ये रिमार्कस किए। इस होटल से कुछ ही फ़ासले पर पाकिस्तानी फ़ौज के जनरल हेडक्वार्टर्स मौजूद हैं।

अमेरीकी इंतिज़ामीया की जानिब से उन के सर पर एक करोड़ डालर के इनाम का गुज़शता रोज़ ऐलान किए जाने के बाद ये उन की पहली प्रेस कान्फ्रेंस थी जिसमें उन्हों ने इंतिहाई जारिहाना लब-ओ-लहजा इख्तेयार किया और हती कि अपने सर पर इनाम मुक़र्रर किए जाने पर ब्रहमी का इज़हार करते हुए अमेरीका के ख़िलाफ़ सख़्त अल्फ़ाज़ का इस्तेमाल भी किया और कहा कि मैं गारों और पहाड़ीयों में रुपोश नहीं हूँ, मैं यहां रावलपिंडी में मौजूद हूँ और अमेरीकी हुक्काम को मैं ख़ुद अपने ठिकाने से वाक़िफ़ करना चाहता हूँ।

हाफ़िज़ सईद ने अवाम में अपनी पसंदीदगी और हमदर्दी में इज़ाफ़ा की कोशिश के तौर पर कहा कि वो आज पंजाब के इलाक़ा नारवाल का सफ़र करेंगे और कल लाहौर जाऐंगे। उन्होंने ये दावा भी किया कि अगर अमेरीका इनाम के तौर पर मालना रक़म उन्हें देता है तो वो इस रक़म को ग़ुर्बत ज़दा सूबा बलोचिस्तान में सिर्फ करेंगे।

उन्होंने अपने इस दावे का इआदा किया कि जमातुद दावा और इसके कारकुनों का 2008 के मुंबई हमलों से कोई ताल्लुक़ नहीं है। उन्होंने इस्तेदलाल पेश किया कि इनके ख़िलाफ़ कोई सुबूत भी नहीं है। उन्होंने दहशतगर्दी में मुलव्वस होने के इल्ज़ामात को भी मुस्तर्द कर दिया और कहा कि हिंदूस्तान मीडीया प्रोपगंडा के एक हिस्से के तौर पर उन पर दहश्तगर्दी में मुलव्वस होने के इल्ज़ामात आइद कर रहा है।

TOPPOPULARRECENT