Saturday , January 20 2018

मैं दौरा-ए-आस्ट्रेलिया का मुंतज़िर था इशांत

मेलबार्न १७ दिसम्बर: ( पी टी आई ) आस्ट्रेलिया में अपनी साबिक़ा सीरीज़ के चार साल बाद अब हिंदूस्तान के फ़ास्ट बालर इशांत शर्मा एक बार फिर यहां चार टेस्ट मैचेस की सीरीज़ में बेहतर मुज़ाहरा के ख़ाहां है जिस का 26 दिसम्बर से आग़ाज़ हो रहा है ।

मेलबार्न १७ दिसम्बर: ( पी टी आई ) आस्ट्रेलिया में अपनी साबिक़ा सीरीज़ के चार साल बाद अब हिंदूस्तान के फ़ास्ट बालर इशांत शर्मा एक बार फिर यहां चार टेस्ट मैचेस की सीरीज़ में बेहतर मुज़ाहरा के ख़ाहां है जिस का 26 दिसम्बर से आग़ाज़ हो रहा है ।

इशांत शर्मा ने कहा कि वो इस सीरीज़ का एक तवील वक़्त से इंतिज़ार कर रहे थे । शर्मा ने कहा कि वो उन से वाबस्ता की गई उम्मीदों से वाक़िफ़ हैं और जब उन्हों ने बैन-उल-अक़वामी कैरियर का आस्ट्रेलिया में आग़ाज़ किया था उन्हों ने साबिक़ ऑस्ट्रेलियाई कप्तान रिकी पॉन्टिंग को टेस्ट की दोनों ही इनिंग्स में आउट किया था । उन्हों ने कहा कि इन से काफ़ी उम्मीदें वाबस्ता की गई हैं क्योंकि उन्हों ने अपने साबिक़ा दौरा के मौक़ा पर यहां अच्छा मुज़ाहरा किया था ।

उन्हों ने कहा कि अब वो काफ़ी तैयारी कर चुके हैं । वो हर बल्लेबाज़ के लिए अलैहदा अलैहदा मंसूबा रखते हैं। 23 साला इशांत शर्मा हालिया अर्सा में ज़ख़मी होकर मैदान से दूर रहे हैं। ताहम उन्हें अपने साबिक़ा दौरा-ए-आस्ट्रेलिया की कामयाबी आज भी याद आती है । उन्होंने कहा कि साबिक़ा दौरा में वो एक इज़ाफ़ी बोलर के तौर पर आए थे लेकिन कामयाब रहे थे ।

उन्हों ने कहा कि इस दौरा के बाद से लोग उन्हें पहचानने लगे थे । उन की बौलिंग का तज़किरा करने लगे थे और ये उन के लिए मुसबत तजुर्बा रहा था । वो एक बारप हर अच्छा मुज़ाहरा करने के लिए तैयार है|

TOPPOPULARRECENT