Monday , December 18 2017

‘मैं बेकसूर हूं, मुझे फंसाने की साजिश’: जगदीश टाइटलर

नई दिल्ली, 12 अप्रैल: 1984 के सिख मुखालिफ फसादात में मुल्ज़िम कांग्रेसी लीडर जगदीश टाइटलर ने अपने उपर लगे इल्ज़ामो को झूठा करार दिया है। जगदीश टाइटलर पर तीन लोगों के कत्ल का केस है।

नई दिल्ली, 12 अप्रैल: 1984 के सिख मुखालिफ फसादात में मुल्ज़िम कांग्रेसी लीडर जगदीश टाइटलर ने अपने उपर लगे इल्ज़ामो को झूठा करार दिया है। जगदीश टाइटलर पर तीन लोगों के कत्ल का केस है।

निजी चैनल को द‌िए इंटरव्यू के दौरान जगदीश टाइटलर ने अपने आपको पूरी तरह बेकसूर बताया है। उन्होंने कहा कि मुझे फंसाने की साजिश रची जा रही है और मेरे ऊपर लगे सारे इल्ज़ाम झूठे हैं। उनके मुताबिक गवाह सुरेंदर सिंह ने दबाव में आकर केस किया है।

टाइटलर ने कहा और गवाहों को भी इस मामले में शामिल करने की खास जरूरत है। उन्होंने कहा जब सिख मुखालिफ दंगे हुए थे तब मैं साबिक वज़ीर ए आज़म इंदिरा गांधी के पास था।

उन्होंने कहा 31 अक्टूबर 1984 को वो दिल्ली में नहीं थे। टाइटलर ने कहा मुझ पर कोई इल्जाम नहीं है बल्कि जज ने भी मुझे मुल्ज़िम नही कहा। उन्होंने कहा मैं सिखों के हर काम करता आया हूं।

गौरतलब है कि 2007 में सीबीआई ने इस मामले में अपनी पहली क्लोजर रिपोर्ट पेश की थी। उसके बाद 2009 में सीबीआई ने टाइटलर को क्लीन चिट देकर कोर्ट में क्लोजर रिपोर्ट दाखिल की।

सीबीआई की क्लोजर रिपोर्ट में कहा गया था कि टाइटलर के खिलाफ कोई गवाह नहीं है इसलिए इस केस को बंद किया जाए।

TOPPOPULARRECENT