मैं संसद में आडवाणी जी की रक्षा करता हूं, लेकिन जो उनके शिष्य थे वो ऐसा नहीं करते हैं- राहुल गांधी

मैं संसद में आडवाणी जी की रक्षा करता हूं, लेकिन जो उनके शिष्य थे वो ऐसा नहीं करते हैं- राहुल गांधी
Click for full image

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सोमवार को पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वायपेयी का हालचाल जानने के लिए एम्स पहुंचे थे। अब वो खुद इस मुलाकात का राजनीतिकरण करते हुए भाजपा और पीएम नरेंद्र मोदी पर निशाना साध रहे हैं।

राहुल ने कहा कि हमारी पार्टी ने वाजपेयी के खिलाफ चुनाव लड़ा था लेकिन आज जब वो अस्वस्थ हैं तो मैं ही सबसे पहले उनका हालचाल जानने अस्पताल पहुंचा। मेरे जाने से पहले किसी भी बीजेपी नेता ने उनकी कोई खबर तक नहीं ली।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि हम वाजपेयी जी के खिलाफ लड़े लेकिन उन्होंने देश के लिए काम किया था। वह देश के पीएम रहे हैं। हम उनके पद का आदर करते हैं। आज अगर अटल बिहारी वाजपेयी जी बीमार हैं तो हम उनके साथ खड़े हैं और रहेंगे। ये हमारा इतिहास है, धर्म है। यही हमारी कल्चर है।

राहुल गांधी ने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी का कार्यकर्ता ही कांग्रेस को चुनान जीताता है। चाहे कुछ भी हो जाए, कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता का आदर होगा, उनकी रक्षा की जाएगी।

इसके बाद राहुल ने प्रधानमंत्री पर अपने गुरू के अपमान का भी आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि मुझे खराब लगता है, मुझे कहना नहीं चाहिए। हम आडवाणी जी के खिलाफ लड़े, कांग्रेस पार्टी ने उन्हे हरा दिया। 2004 और 2009 में हम उनके खिलाफ लड़े।

मुझे दुख होता है। मैं संसद में आडवाणी जी की रक्षा करता हूं। मैं हमेशा उनके आगे खड़ा रहता हूं लेकिन जो उनके शिष्य थे वो ऐसा नहीं करते हैं। प्रधानमंत्री मोदी के गुरु कौन थे- एलके आडवाणी, लेकिन उन्होंने अपने गुरु के लिए क्या किया? किसी फंक्शन में उनकी इज्जत नहीं करते हैं। यही फर्क है कांग्रेस और उनकी विचारधारा में।

बता दें कि सोमवार को 93 वर्षीय पूर्व पीएम वायपेयी को मूत्राशय में संक्रमण के इलाज के लिए एम्स में भर्ती कराया गया था। खबर मिलने के बाद सबसे पहले राहुल गांधी ने एम्स पहुंचकर उनका हालचाल जाना था।

इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह अस्पताल पहुंचे थे। मंगलवार को उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू और एमडीएमके के नेता वाइको ने भी अस्पताल का दौरा किया।

Top Stories