Tuesday , December 12 2017

मैडीकल कौंसल आफ़ इंडिया बर्ख़ास्त करने की तजवीज़ की मुख़ालिफ़त

नेशनल लीडर्स फ़ोर्म आफ़ इंडियन मैडीकल असोसी एष्ण के अरकान(सदस्य) ने तहय्या किया है कि इस बात को यक़ीनी बनाने के लिये कि क़ौमी कमीशन इंसानी वसाइल बराए सेहत बिल मंज़ूर ना हो राय आम्मा बेदार करने और मर्कज़ पर दबाव डालने के लिये बेदार

नेशनल लीडर्स फ़ोर्म आफ़ इंडियन मैडीकल असोसी एष्ण के अरकान(सदस्य) ने तहय्या किया है कि इस बात को यक़ीनी बनाने के लिये कि क़ौमी कमीशन इंसानी वसाइल बराए सेहत बिल मंज़ूर ना हो राय आम्मा बेदार करने और मर्कज़ पर दबाव डालने के लिये बेदारी मुहिम शुरू की जाय ।

फ़ोर्म के साबिक़ सदूर एस आर वलराज ( टोई कोरियन ) अशोक इस अधाद ( नागपुर ) और वे सी वे प्ले ( तिरे विंड रुम ) ने सहीफ़ा निगारों से कहा कि अगर बिल मंज़ूर करलिया गया तो इस के नतीजा में दूसरे इदारे बिशमोल मैडीकल नर्सिंग फार्मेसी और फ़िज़ियो थरापी कौंसलस बर्ख़ास्त हूजाएंगी और निगरानी की कोई भी सहूलत ख़त्म हो जाएगी ।

उन्हों ने कहा कि इस बात के अंदेशे हैं कि फैसला साज़ इदारों में गैर तिब्बी अफ़राद दाख़िल हूजाएंगे और हिंदूस्तान जैसे मुल़्क केलिए ये अच्छी बात नहीं होगी जहां 60 फीसद अवाम देहातों में रहते हैं और उन्हें मयारी तिब्बी सहूलतें दस्तयाब नहीं हैं ।

TOPPOPULARRECENT