Wednesday , December 13 2017

मोदी अपनी बीवी को नहीं सँभाल सके मुल्क को क्या संभालेंगे

इसी टुंडी हल्का से झारखंड तहरीक की शुरुवात हुयी थी। तहरीक के जरिये महाजन सिस्टम के खिलाफ लड़ाई लड़ी गई और इसे खत्म किया गया। मैं अपनी तहरीक के वक़्त से ही पढ़ाई पर ज़ोर देता आया हूँ। बेटा हो या बेटी पढ़ाई लाज़मी है। बच्चों को पढ़ाये अगर आप त

इसी टुंडी हल्का से झारखंड तहरीक की शुरुवात हुयी थी। तहरीक के जरिये महाजन सिस्टम के खिलाफ लड़ाई लड़ी गई और इसे खत्म किया गया। मैं अपनी तहरीक के वक़्त से ही पढ़ाई पर ज़ोर देता आया हूँ। बेटा हो या बेटी पढ़ाई लाज़मी है। बच्चों को पढ़ाये अगर आप तालीम याफ़्ता बनने का काम नहीं करेंगे तो मुस्तकबिल में परेशानी झेलेंगे। पढ़ाई लिखाई करके मुत्तहिद होने का काम करें। ये बातें झारखंड मुक्ति मोर्चा सुप्रीमो शिबू सोरेन तोपचांची के धागी में इंतिखाबी जलसे का खिताब करते हुये कहीं। उन्होने जलसा से खिताब करते हुये कहा की टुंडी से ही उनकी तहरीक को सिम्त मिली थी।

आप सबसे जेएमएम के उम्मीदवार मथुरा महतो को कामयाब करें। और मजबूत झारखंड बनाने में मदद करें। मिस्टर सोरेन ने कहा की झारखंड में हेमंत सोरने के दौर में तरक्कीयाती रास्ते पर आगे बढ़ना हो गया है। हेमंत हुकूमत ने कई फ्लाही मंसूबों का आगाज किया है। जिसका फाइदा झारखंड के लोगों को मिल रहा है। पहली बार हेमंत सोरेन ने वजीरे आला बनते ही वो काम किया जो 14 बरसों में नहीं हुआ और उन्होने 14 माह में ही कर दिखाया। झारखंड तरक़्क़ी की जानिब बढ्ने लगा है। आज बीजेपी के लोग झारखंड की कुदरती वसायल पर नज़र डाले हुये हैं इसे बचाने का काम यहाँ के आवाम को करना है वहीं मेहमान खुसुसि के तौर पर मौजूद चंपई सोरेन ने कहा की टुंडी से ही अलग झारखंड की तहरीक शुरू हुयी जो पूरे झारखंड की तहरीक में फैल गयीऔर नयी रियासत तशकील में आई। आज बीजेपी कहती है की रियासत हम चलाएँगे अगर झारखंड हम लोगों ने लड़ कर लिया है तो झारखंड को हम ही लोग चलाएँगे। उन्होने ने नरेंद्र मोदी पर तंज़ करते हुये कहा की जो सख्श अपनी बीवी को नहीं रख सका वो मुल्क को क्या रखेगा।

TOPPOPULARRECENT