Saturday , November 18 2017
Home / Election 2017 / मोदी कब्रिस्तान और श्मशान देखते हैं, तो नजीब की माँ और ज़किया जाफरी से भेदभाव क्यों: ओवैसी

मोदी कब्रिस्तान और श्मशान देखते हैं, तो नजीब की माँ और ज़किया जाफरी से भेदभाव क्यों: ओवैसी

लखनऊ: ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुसलमीन (एआईएमआईएम) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने प्रधानमंत्री मोदी पर तीखा हमला बोलते हुए सवालिया अंदाज में पूछा कि प्रधानमंत्री कब्रिस्तान और श्मशान देखते हैं, तो नजीब की माँ और ज़किया जाफरी से भेदभाव क्यों? गोमांस के मामले में भेदभाव क्यों? साथ ही साथ ओवैसी ने दावा किया कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के बाद उनकी पार्टी एक बड़ी ताकत बनकर उभरेगी.

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

यूपी चुनाव के मौके पर उन्होंने कहा कि सपा दम तोड़ रही है, उनके खिलाफ कहता हूँ तो वह बौखलाहट में कुछ भी बोलती है, सपा कमजोर और समाप्त हो रही है और उसका आरोप मुझ पर लगा रही है.

सांसद ओवैसी ने मुस्लिम उलेमा की ओर से किसी राजनीतिक पार्टी के पक्ष में वोट डालने का फतवा जारी करने को उचित ठहराते हुए कहा कि इस्लाम में कोई धार्मिक गुरु नहीं होता, लेकिन मुसलमानों को किसी विशेष राजनीतिक पार्टी को समर्थन करने का हक है.
उन्होंने दावा किया कि इस चुनाव से लोग हमारी ताकत समझेंगे. भाजपा में प्रधानमंत्री के अलावा कोई और चेहरा नहीं है, वे केवल एक चेहरे की पार्टी है.
भाजपा पर तीखा निशाना बोलते हुए ओवैसी ने कहा कि प्रधानमंत्री कब्रिस्तान और श्मशान देखते हैं, तो नजीब की माँ और ज़किया जाफरी से भेदभाव क्यों? गोमांस के मामले में भेदभाव क्यों,? ऐसी भाषा प्रधानमंत्री को शोभा नहीं देती. ऐसा लग रहा था जैसे प्रधानमंत्री नहीं, गुजरात के मुख्यमंत्री बोल रहा है.
उन्होंने कहा कि अखिलेश गंगा की कसम खा कर बोलें कि मुजफ्फरनगर के दंगा पीड़ितों को न्याय मिला कि नहीं मिला? गंगा की कसम खा कर बोलें कि मुसलमानों से आरक्षण का वादा किया था या नहीं?

TOPPOPULARRECENT